पटना, जेएनएन। नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर जवाहर लाल नेहरू छात्र संघ (JNUSU) के पूर्व अध्‍यक्ष व भाकपा नेता कन्‍हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) केंद्र सरकार पर जमकर बरसे। उन्‍होंने सीएए को देश के लिए काला काननू बताया। उन्‍होंने एनआरसी-एनपीआर (NRC-NPR) को लेकर कहा कि यह जनता के हित में नहीं है। देश के माहौल को बिगाड़ा जा रहा है। ये बातें कन्‍हैया ने मोतिहारी में रात्रि विश्राम करने से पहले आयोजित सभा में कहीं। इसके पहले उन्‍होंने बेतिया में महात्‍मा गांधी की प्रतिमा पर माल्‍यार्पण करते हुए बापू के रास्‍तों पर चलने की अपील लोगों से की। इतना ही नहीं, उन्‍होंने इसे लेकर ट्वीट भी किया है। साथ ही जामिया के स्‍टूडेंट्स के प्रदर्शन के दौरान बाहरी व्‍यक्ति की ओर से की गई फायरिंग को लेकर भी हमला बोला है।

कन्‍हैया ने दिल्‍ली में जामिया के स्‍टूडेंट्स के प्रदर्शन के दौरान बाहरी व्‍यक्ति की ओर से की गई फायरिंग को लेकर गुरुवार की देर शाम ट्वीट किया है। उन्‍होंने फोटो टैग कर गुरुवार को किए गए ट्वीट में लिखा है- 'देखिए इन तस्वीरों को। नफरत में अंधा होकर आजाद भारत के पहले आतंकवादी नाथूराम गोडसे ने 72 साल पहले इसी तरह गांधीजी की हत्या कर दी थी, क्योंकि उसे लगता था कि बापू ‘देश के गद्दार’ हैं। आज राम का नाम लेकर सत्ता में आए लोग नाथूराम का देश बना रहे हैं। जागिए, इससे पहले कि पूरा देश बर्बाद हो जाए।'   

मोतिहारी से जेएनएन के अनुसार, मोतिहारी की सभा में भाकपा नेता कन्‍हैया ने कहा कि हाल ही में केंद्र सरकार द्वारा लाया गया सीएए देश के लिए काला कानून है। इसके माध्‍यम से पूरे देश मे नफरत फैलाने की साजिश हो रही है। शहर के स्पोर्ट्स क्लब मैदान में आयोजित जनसभा में उन्‍हाेंने कहा कि सत्ता में बैठे लोग देश मे भ्र्ष्टाचार व सांप्रदायिकता बढा रहे हैं। आज चुनौती है कि हम नफरत फैलाने वालों से कैसे बचें। सत्ताधारी लोगों द्वारा बुनियादी सवालों से वंचित किया जा रहा है। कहा कि आज के परिवेश में महात्मा गांधी, बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर व भगत सिंह के विचारों की प्रासंगिकता काफी बढ़ गई है। 

वहीं बेतिया जेएनएन के अनुसार, कन्‍हैया ने कहा कि बापू के हत्यारों की विचारधारा ने देश में आतंक का माहौल बना दिया है। गांधीजी के संदेश को जन-जन तक पहुंचाने के लिए निकले हैं। देश विरोधी और इंसान विरोधी प्रक्रिया एनपीआर, एनआरसी को नफरत के रूप में लागू करने के लिए सीएए लाया गया है। उन्‍होंने कहा क‍ि गांधीजी के बलिदान दिवस पर सत्याग्र्रह यात्रा की शुरुआत की गई है। नई पीढ़ी की जिम्मेदारी है कि बापू ने जिस विचार के लिए प्राण न्योछावर किया, उसे आगे लेकर जाना है। आज संकल्प लेने का दिन है। कहा कि बापू तेरे विचारों को झुकने नहीं देंगे। 

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस