शिवहर, जेएनएन। शिवहर विधान सभा सीट से जनता दल राष्ट्रवादी के प्रत्याशी श्रीनारायण सिंह की हत्या की साजिश दिल्ली के तिहाड़ जेल में रची गई। तिहाड़ जेल में बंद संतोष झा गिरोह का सरगना सीतामढ़ी जिले के बथनाहा थाना क्षेत्र के बथनाहा पूर्वी निवासी विकास झा उर्फ कालिया ने रची थी। संतोष झा की हत्या के प्रतिशोध में श्रीनारायण सिंह की हत्या की गई। इसका उदभेदन घटनास्थल से आर्म्स के साथ गिरफ्तार सीतामढ़ी जिले के बथनाहा पूर्वी निवासी नीरज पाठक उर्फ चाईनीज ने किया है। इसकी जानकारी सोमवार को अपने कार्यालय कक्ष में आयोजित प्रेसवार्ता में एसपी संतोष कुमार ने दी।

 एसपी ने बताया कि यह वारदात अपराधियों के बीच वर्चस्व की लड़ाई का प्रतिफल है। एसपी ने बताया कि श्रीनारायण सिंह की हत्या की साजिश तीन माह पूर्व तिहाड़ जेल में बंद विकासस झा उर्फ कालिया ने रची थी। कालिया, पिछले तीन माह से वॉटसएप कॉल के जरिये कालिया अपने शागिर्दों की मॉनिटरिंग कर रहा था। जबकि, बदमाश तीसरे प्रयास में श्रीनारायण सिंह की हत्या करने में कामयाब हुए। इसके पूर्व जब श्रीनारायण सिंह पटना में टिकट के लिए चक्कर काट रहे थे, बदमाश उनके पीछे लगे थे। तकरीबन 21-22 दिनों तक सभी बदमाश पटना में रहे। हालांकि उन्हें नाकामी हाथ लगी।

 बदमाशों ने दूसरा प्रयास 16 अक्टूबर को श्रीनारायण सिंह के नामांकन के दौरान अनुमंडल कार्यालय के समक्ष किया। लेकिन पुलिस की भीड़ और चाक चौबंद प्रशासनिक व्यवस्था के चलते बदमाश पीछे हटने को मजबूर हो गए। तीसरे प्रयास के तहत जनसंपर्क अभियान के दौरान 24 अक्टूबर की शाम जिले के पुरनहिया थाना क्षेत्र के हथसार गांव में बदमाशों ने श्रीनारायण सिंह और उनके निजी अंगरक्षक संतोष कुमार को गोलियों से भून डाला। इस वारदात में हथसार निवासी आलोक रंजन और नयागांव निवासी अभय सिंह भी गोली लगने से जख्मी हुए थे। दोनों की चिकित्सा जारी है। जबकि, वारदात को अंजाम देकर भाग रहा सीतामढ़ी जिले के रून्नीसैदपुर थाना के मानिकचौक निवासी गौरीशंकर महाराज उर्फ किशन झा की उग्र भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी थी।

 वहीं मौके से आर्म्स के साथ नीरज पाठक को गिरफ्तार किया गया था। वारदात में मानिकचौक पश्चिमी निवासी बाबू साहेब झा भी शामिल था। वह फरार चल रहा था। एसपी ने बताया कि संतोष झा की हत्या के बाद कालिया गिरोह का सरगना बन गया है। संतोष झा की हत्या की साजिश में शामिल लोग कालिया के निशाने पर है। इसी क्रम में श्रीनारायण सिंह की हत्या की गई। श्रीनारायण सिंह पर दो दर्जन अधिक मामले दर्ज है। इसी तरह संतोष झा और कालिया के खिलाफ भी दो दर्जन से अधिक मामले बिहार के कई जिलों में दर्ज है। एसपी ने बताया कि वारदात में शामिल गौरी शंकर महाराज, नीरज पाठक और बाबू साहेब झा के खिलाफ भी पूर्व से कई मामले दर्ज है। एसपी ने बताया कि गिरफ्तार नीरज पाठक ने संतोष झा गिरोह के बारे में कई अहम जानकारी दी है।

यह है मामला

शिवहर विधानसभा सीट से जनता दल राष्ट्रवादी के प्रत्याशी सह डुमरी प्रखंड के नयाटोला निवासी श्रीनारायण सिंह की शनिवार की शाम पुरनहिया थाने के हथसार गांव में गोली मारकर हत्या कर दी गई। इस वारदात में हथसार निवासी सह अंगरक्षक संतोष कुमार भी मारा गया। जबकि, आलोक रंजन और अभय सिंह नामक दो समर्थक जख्मी हुए थे। दोनों का सीतामढ़ी के निजी अस्पताल में इलाज जारी है। वारदात को अंजाम देकर भाग रहे दो बदमाशों में से एक को स्थानीय लोगों ने पीट-पीट कर मार डाला। जबकि, दूसरे को पिस्टल के साथ पुलिस ने दबोच लिया।

 बताया गया हैं कि जनसंपर्क अभियान के क्रम में हथसार पहुंचे श्रीनारायण सिंह को घेर कर बदमाशों ने वारदात को अंजाम दिया। पुलिस द्वारा मृतक के शव व घायलों को सीतामढ़ी भेज दिया गया था। रात दो बजे पोस्टमार्टम बाद श्रीनारायण सिंह और संतोष का शव नयागांव लाया गया। जहां रविवार की सुबह प्रशासनिक व्यवस्था और समर्थकों की भारी भीड़ के बीच अंतिम संस्कार किया गया।पुलिस ने मामले में आधा दर्जन लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ किया। वहीं सोमवार को एसपी ने प्रेसवार्ता का आयोजन कर हत्याकांड और साजिश का उदभेदन किया हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस