मुजफ्फरपुर,जेएनएन। बैरिया गोलंबर स्थित नीतीश की कबाड़ दुकान से जिले में संचालित हो रहीं शराब फैक्ट्रियों में खाली बोतल, कार्क, रैपर व अन्य सामान मुहैया कराया जाता था। पुलिस के हत्थे चढ़े संचालक नीतीश समेत अन्य आरोपितों ने पूछताछ में कई अहम जानकारियां दी हैं। कहा कि अंतरराज्यीय शराब माफिया से इनके तार जुड़े हैं। इसमें दिल्ली, हरियाणा, यूपी, पश्चिम बंगाल व झारखंड के कई शराब माफिया के नाम सामने आए हैं। जब्त मोबाइल में इन सभी के मोबाइल नंबर भी मिले हैं।

 इनके ठिकाने से 40 बोरा शराब की खाली बोतल, चार बोरा नए कार्टन, 50 किलो कार्क, रैपर, 84 हजार पांच सौ रुपये नकद, चार कार, एक बुलेट, अपाचे व एक स्कूटी और नौ मोबाइल सेट बरामद किए गए। मंगलवार को एसएसपी मनोज कुमार ने उक्त बातों की जानकारी पत्रकारों को दी। उन्होंने कहा कि राज्य में पूर्ण शराबबंदी के बाद भी शराब बनाने वाले उपकरण का भंडारण किया जा रहा था। इन सभी आरोपितों के विरुद्ध पर्याप्त साक्ष्य मौजूद हैं। शीघ्र चार्जशीट दायर कर स्पीडी ट्रायल से सजा दिलाने की कवायद की जाएगी। 

ये हुए गिरफ्तार

गिरफ्तार किए गए आरोपितों में कबाड़ दुकानदार दामोदरपुर पठानटोली के नीतीश कुमार, सरैया अथमा के अमित रंजन, करजा द्वारिका नामपुर के मनोज कुमार, अहियापुर कोल्हुआ पैगम्बरपुर के राकेश कुमार सिंह, सरैया मानिकपुर के मनोज कुमार और पूर्वी चंपारण अहिवरन छपरा के रामाशंकर राय उर्फ उपेंद्र राय शामिल हैं। इसमें अधिकतर के विरुद्ध शराब मामले के केस दर्ज हैं। हाल ही में जिले में अहियापुर समेत कई जगहों पर पकड़ी गईं शराब फैक्ट्रियों से गिरफ्तार आरोपितों से पूछताछ में कबाड़ दुकानदार का नाम सामने आया था।  

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस