पश्‍चिम चंपारण, जासं। वाल्मीकि इंडो- नेपाल बॉर्डर क्षेत्र में तस्करी रोकने को लेकर एसएसबी और नेपाल की एपीएफ सक्रिय हो गई है। इसको लेकर संयुक्त रूप से पेट्रोल‍िंग की जा रही है। इसके अतिरिक्त सभी रास्तों पर निगरानी तेज कर दी गई है । कोरोना को लेकर  इंडो नेपाल बॉर्डर गंडक बराज सीमा सील है। लेकिन खुली सीमा होने की वजह से चोरी छिपे लोग गंडक नदी के रास्ते नाव से आवाजाही कर रहे हैं। उन पर लगाम लगाने के लिए एसएसबी लगातार सक्रिय है।

 इस बाबत एसएसबी 21वीं वाहिनी ए कंपनी के निरीक्षक काली दास ने बताया कि इंडो नेपाल बॉर्डर के अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर पर एसएसबी जवान और नेपाल की एपीएफ फोर्स के जवानों ने संयुक्त पेट्रोङ्क्षलग की गई। दोनों देशों के बीच कोविड 19 के चलते आवाजाही पर प्रतिबंध है। असामाजिक तत्व और तस्करी करने वालों को सबक सिखाने के लिए संयुक्त गश्त की जा रही है। इसके अतिरिक्त बॉर्डर के सभी रास्तों पर निगरानी तेज कर दी गई है । मौके पर  एसआइ गिरवर ङ्क्षसह, ब्रज किशोर, अंकुश कुमार, मनोज बघेल, हरि कुमार, भूपेन्द्र यादव, राम प्रसाद, अजय शर्मा,अश्विन, मदन मल,लोकेश थापा,दिनेश कुमार आदि मौजूद रहे। 

कोरोना: स्टेशन पर जांच में एक और मिला कोरोना पॉजिटिव 

स्टेशन पर एक और मिला कोरोना संक्रमित

हरिनगर रेलवे स्टेशन पर जांच के दौरान एक व्यक्ति में कोरोना की पुष्टि हुई है। जिसकी पहचान लौरिया थाना क्षेत्र के देवराज डुमरा गांव निवासी 19 वर्षीय युवक के रूप में की गई है। संक्रमित युवक गुरुवार की सुबह डाउन सप्तक्रांति 02558 एक्सप्रेस से हरिनगर रेलवे स्टेशन पर उतरा। जिसकी जांच स्थानीय पीएचसी की टीम के तरफ से की गई।  प्रभारी स्वास्थ्य प्रबंधक रंजन कुमार ने बताया कि संक्रमण की पुष्टि होने के बाद लौरिया प्रशासन व पीएचसी को इसकी सूचना दे दी गई है।  इसको 14 दिनों के होम क्वारंटाइन में रहने का निर्देश दिया गया है। बता दें कि संक्रमित युवक राजस्थान में रहकर काम करता है। बता दें कि इससे पूर्व चार प्रवासियों में इसकी पुष्टि हुई है। जिसमें से तीन स्थानीय प्रखंड के थे। जबकि एक पहले भी लौरिया का निवासी पॉजिटिव पाया गया था। फिलहाल सभी होम क्वारंटाइन में चिकित्सकों की देखरेख में हैं। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021