मुजफ्फरपुर, जासं। अहियापुर थाना क्षेत्र के सहबाजपुर इलाके में हुए अभिनव उर्फ गाैतम की हत्या मामले में हिरासत में लिए गए छह संदिग्धों से पूछताछ पर कई जगहों पर छापेमारी की गई। मगर हत्या करने वाले मुख्य आराेपित की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। नगर डीएसपी रामनरेश पासवान ने बताया कि अभी सभी बिंदुओं पर जांच चल रही है। साथ ही मोबाइल कॉल डिटेल्स को खंगालकर अवलोकन किया जा रहा है। इन सभी के बीच तीसरे दिन भी पुलिस को ठोस कामयाबी नहीं मिली है।

बता दें कि बुधवार की सुबह 10 बजे गौतम सहबाजपुर स्थित घर से जीराेमाइल के लिए निकला था। इसके बाद शाम तक घर नहीं लौटा था। तब स्वजन उसकी खोजबीन करने लगे। इसी क्रम में गुरुवार की शाम सहबाजपुर इलाके के एक अर्धनिर्मित मकान में शव मिला था। मामले में गौतम के पिता प्रकाश कुमार ने पुलिस को दिए बयान में दो महिला समेत सात को नामजद करते हुए ग्यारह लोगों के विरुद्ध हत्या की प्राथमिकी दर्ज कराई है। प्राथमिकी में साजिश के तहत हत्या की बात बताया गया है। प्राथमिकी में अहियापुर सहबाजपुर इलाके के नीरज कुमार, मिन्ता देवी, बबलु कुमार, दीपू कुमार, भूषण कुमार, कुंदन कुमार व मनोज पासवान की पत्नी के साथ चार अज्ञात लोगों को शामिल किया गया है। इसके बाद पीड़ित स्वजन को धमकी मिलना शुरू हो गया है। धमकी देने वालों ने केस उठाने की बात कहते हुए अंजाम भुगतने की बात कही है। पुलिस उक्त नंबर का डिटेल्स निकालकर आगे की कार्रवाई कर रही है। पुलिस की प्रारंभिक जांच में आपसी व रंजिश में हत्या की बात सामने आ रही है। मगर ठोस साक्ष्य नहीं मिलने से अब तक सही अपराधियों तक नहीं पहुंची है। मुजफ्फरपुर में अपराधी और चोर दोनों बेखौफ तरीके से घटना के अंजाम दे रहे हैं। इन द‍िनों शहर में चोरी कीे घटनाएं भी काफी बढ़़ गई, लेक‍िन पुल‍िस कार्रवाई ब‍िल्‍कूल स‍िफर है।