मुजफ्फरपुर, जेएनएन। इंटर की उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन बुधवार से शुरू हो रहा है, लेकिन कॉपी जांच के लिए लगाए गए शिक्षकों में से लगभग दस फीसद वीक्षकों ने ही योगदान किया है। ऐसे में इंटर की कॉपी जांच ससमय कर पाना संकट लग रहा है। इंटर की कॉपी जांच के लिए तीन केंद्रों पर 728 वीक्षकों को योगदान करने के लिए पत्र जारी किया गया था। इसमें से काफी शिक्षक पहले ही हड़ताल का आह्वान किया था, इन शिक्षकों ने योगदान करने पहुंचे दूसरे शिक्षकों के साथ भी मारपीट की। जिसके कारण योगदान करने पहुंचे काफी शिक्षक डर के मारे वापस लौट गए।

योगदान करने का पत्र जारी

मंगलवार को तीनों केंद्रों को मिलाकर कुल 92 वीक्षक और 124 माक्र्स पोस्टिंग पर्सनल के साथ ही 18 चेकरमेकर ने भी योगदान किया है। डीईओ ने कहा कि सभी वीक्षकों को मंगलवार को ही योगदान करने का पत्र जारी किया गया था। योगदान नहीं करने वाले शिक्षकों से स्पष्टीकरण मांगा गया है।

शिक्षकों ने मारपीट की

माध्यमिक शिक्षा के डीपीओ शर्मिला राय ने कहा कि योगदान करने वाले वीक्षकों के साथ हड़ताली शिक्षकों ने मारपीट की है। सीसीटीवी फुटेज से मिले साक्ष्य के आधार पर 15 शिक्षकों के विरुद्ध मामला दर्ज कराया गया है।

प्राथमिकी दर्ज

मुजफ्फरपुर के डीईओ डॉ.गोपाल ठाकुर ने कहा कि योगदान करने पहुंचे शिक्षकों के साथ मारपीट करने वालों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। साथ ही हर हाल में बुधवार से तीनों केंद्रों पर इंटर की उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन शुरू होगा। इसमें व्यवधान डालने वाले शिक्षकों को बर्खास्त किया जाएगा। साथ ही उनपर प्राथमिकी भी दर्ज की जाएगी।

शांतिपूर्ण विरोध

बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष उमाकिंकर ठाकुर इस बारे में कहते हैं कि हमलोग शांतिपूर्ण विरोध कर रहे हैं। प्रशासन ने बर्बरतापूर्ण तरीके से शिक्षकों पर प्राथमिकी दर्ज कराई है। हमलोग प्रशासन के इस रवैए के खिलाफ विरोध मार्च निकालेंगे। संघ इसपर विचार कर रही है।

मूल्यांकन केंद्रों पर धारा 144 लागू

इंटर परीक्षा उत्तर पुस्तिका मूल्यांकन केंद्रों पर जिलाधिकारी के आदेश पर दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 लागू कर दिया गया है। जिन केंद्रों पर कॉपी जांच होनी है उसमें राजकीय जिला स्कूल, चैपमैन बालिका उच्च विद्यालय हाथी चौक गौशाला रोड और बीबी कॉलेजिएट मोतीझील शामिल है।

यंत्रों का प्रयोग नहीं

अनुमंडल दंडाधिकारी पूर्वी डॉ. कुंदन कुमार ने आदेश जारी कर कहा कि कोई भी व्यक्ति मूल्यांकन केंद्र के आसपास माइक्रोफोन, ध्वनि विस्तारक यंत्र या ध्वनि परिवर्धित करने वाले यंत्रों का प्रयोग नहीं करेंगे। मूल्यांकन केंद्रों के 500 गज के भीतर पांच से अधिक व्यक्ति एक जगह एकत्रित नहीं होंगे। एसडीओ पूर्वी ने बताया कि 26 फरवरी की सुबह से मूल्यांकन कार्य समाप्त होने तक यह आदेश लागू रहेगा।  

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस