मुजफ्फरपुर : मुजफ्फरपुर नगर निगम क्षेत्र व तीन नगर परिषदों में वर्ग एक से पांच के लिए 152 सीटों पर बुधवार को चार केंद्रों पर शिक्षक नियोजन काउंसलिग की प्रक्रिया काफी हो-हंगामें के बीच संपन्न हुई। जिला स्कूल पर एक महिला ने अधिक नंबर होने के बाद भी फार्म नहीं लेने का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। विधि व्यवस्था के लिए मौजूद डीपीओ अमरेंद्र कुमार पांडेय को पुलिस बुलानी पड़ी। महिला पुलिस नहीं होने के कारण पुरुष पुलिस ने समझाकर महिला को शांत कराया गया। डीपीओ ने हंगामा कर रही महिला को लिखित शिकायत करने को कहा।

डीपीओ स्थापना जमालुद्दीन ने बताया कि, नगर निगम क्षेत्र में सामान्य वर्ग के लिए 23 और उर्दू के लिए 11 सीट, नगर परिषद कांटी के लिए 29 सामान्य और उर्दू 10सीट, मोतीपुर नगर परिषद क्षेत्र के लिए 22 सामान्य तथा 7 उर्दू की सीट है। वहीं साहेबगंज नगर परिषद क्षेत्र में 36 सामान्य एवं 16 सीट उर्दू की है। सीट कम और अभ्यर्थी अधिक आ जाने से शाम तक काफी भीड़ लगी रही। भीड़ के बाद भी लोगों ने कोविड-19 प्रोटोकाल का पालन किया। नगर निगम शहरी क्षेत्र में 34 में 10 सीट खाली रह गई। सामान्य तीन और उर्दू में सात अभ्यर्थी नहीं आए। कांटी नगर परिषद क्षेत्र में कुल 39 सीट पर नियोजन थी। इमसें 14 सामान्य वर्ग और उर्दू पर नहीं हुआ। 15 सीट सामान्य और उर्दू का 10 सीट रिक्त रह गया। मोतीपुर नगर परिषद के लिए 29 सटी में 14 सामान्य का नियोजन हुआ। उर्दू में नहीं हुआ। आठ सामान्य और सात उर्दू का रिक्त रह गए। साहेबगंज में कुल 52 सीटों में 18 सामान्य और उर्दू में एक का नियोजन हुआ। 18 सामान्य और 15 सीट रह गए खाली। अब चार दिन बाद 24 से नियोजन प्रक्रिया शुरू होगी। इसकी प्रशासनिक तैयारी की जा रही है।

Edited By: Jagran