मुजफ्फरपुर, जासं। कोरोना के कारण तीन साल से बंद श्रावणी मेला का इसबार आयोजन होगा। बाबा गरीबनाथ का सावन में जलाभिषेक होगा। 17 जुलाई को इसका डीएन हाईस्कूल में उद्घाटन होगा। इसकी तैयारी को लेकर समाहरणालय सभाकक्ष में डीएम प्रणव कुमार ने शनिवार को समीक्षा बैठक की। इसमें श्रावणी मेले के आयोजन का निर्णय लिया गया। 

डीएम ने आरसीडी, नगर निगम एवं अन्य संबंधित विभागों के अधिकारियों को बाबा गरीबनाथ मंदिर तक जाने वाली सभी सड़कों के साथ-साथ शहर के अन्य सभी सड़कों को शीघ्र दुरुस्त करने निर्देश दिया। कचरे के समुचित प्रबंधन करने के साथ शहर की साफ सफाई को लेकर नगर आयुक्त को विशेष निर्देश दिए गए। एसडीओ पूर्वी और कार्यपालक अभियंता आरसीडी को सड़कों का भौतिक निरीक्षण कर अविलंब प्रतिवेदन देने को कहा गया। पीएचईडी, विद्युत विभाग, स्वास्थ्य विभाग, पथ निर्माण विभाग, जिला जनसंपर्क विभाग सहित अन्य संबंधित विभागों को श्रावणी मेला को लेकर कार्य योजना बनाने को कहा गया है। फकुली से रामदयालु तक सड़क की आवश्यक मरम्मत कराने का निर्देश परियोजना निदेशक हाजीपुर को दिया गया ताकि श्रद्धालु कांवरियों को आवागमन में किसी प्रकार की कठिनाई न हो। मेला आयोजन के दौरान विद्युत के समुचित प्रबंधन करने को लेकर विद्युत विभाग को आवश्यक निर्देश दिया गया।

श्रद्धालु कांवरियों के जलाभिषेक के लिए मंदिर तक आने वाले राष्ट्रीय उच्च पथ 77 व 102 पर यातायात नियंत्रण एवं सुरक्षा के संबंध में आवश्यक व्यवस्था बनाने का निर्देश दिया गया। कांवरियों के लिए निर्धारित ठहराव स्थल पर सभी मूलभूत सुविधाओं शौचालय पेयजल और स्नान घर की व्यवस्था सुनिश्चित करने को कहा गया। डीएम ने सिविल सर्जन को फकुली से लेकर आगंतुक काउंटर तक दो मोबाइल एंबुलेंस का परिचालन सुनिश्चित कराने कहा। साथ ही दो मोबाइल एंबुलेंस मंदिर स्थित नियंत्रण कक्ष के पास रखी जाएंगीा। डीएम ने कहा कि बाबा गरीब नाथ मंदिर से 500 मीटर की परिधि में निजी रूप से किसी के द्वारा माइक व डीजे बजाने पर प्रतिबंध रहेगा। यातायात नियंत्रण को लेकर ट्रैफिक डीएसपी एवं एसडीओ पूर्वी को विशेष निर्देश दिए गए। पूर्णरूप से अभेद सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करने को लेकर भी रणनीति तैयार की गई। इसके तहत पर्याप्त संख्या में दंडाधिकारी, पुलिस अधिकारी, पुलिस बल एवं बीएमपी की महिला बटालियन पर्याप्त संख्या में प्रतिनियुक्त होंगे। सैप के जवान, एनसीसी एवं भारत स्काउट एवं गाइड के कैडेट््स भी तैनात किए जाएंगे।

सीसी कैमरे से रखी जाएगी नजर

बाबा गरीब नाथ मंदिर स्थित नियंत्रण कक्ष में लगातार सीसी कैमरे से सभी गतिविधियों पर नजर रखी जाएगी। सभी महत्वपूर्ण स्थलों पर वाच टावर बनाए जाएंगे। बैठक में नगर आयुक्त विवेक रंजन मैत्रेय, डीडीसी आशुतोष द्विवेदी, अपर समाहर्ता राजस्व राजेश कुमार, सिविल सर्जन, नगर डीएसपी समेत अन्य विभागों के पदाधिकारी के साथ रेडक्रास के अध्यक्ष उदय शंकर ङ्क्षसह, मंदिर के मुख्य पुजारी विनय पाठक समेत आदि थे। मालूम हो कि इसके पहले 2019 में श्रावणी मेले का आयोजन किया गया था। कोरोना काल के कारण लगभग तीन साल के अंतराल पर 2022 में श्रावणी मेले का आयोजन किया जा रहा है।  

Edited By: Ajit Kumar