बेतिया (पचं), जासं। मुफस्सिल थाना के बरवत पसराईन गांव में बकरी चराने के विवाद को लेकर सचिन प्रसाद की पुत्री साक्षी रानी (10) की गांव की एक महिला ने बुधवार की शाम में बेरहमी से पिटाई कर दी। बेहोश हालत में उसे इलाज के अस्पताल जहां से चिकित्सकों ने रेफर कर दिया। गुरुवार की सुबह में मोतिहारी के एक प्राइवेट अस्पताल में बच्ची की मौत हो गई। इसके बाद आक्रोशित स्वजन और ग्रामीणों ने आरोपित महिला रामकली देवी को पकड़कर नाबालिग बच्ची के शव के साथ थाना पहुंच गए और हंगामा करने लगे। हालांकि पुलिस अधिकारियों ने समझा बूझाकर शांत कराया। मामले में एसपी उपेन्द्र नाथ वर्मा ने बताया कि मुफस्सिल थानाध्यक्ष को परिजनों की शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई करने का आदेश दिया गया है। पुलिस कथित महिला से पूछताछ कर रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से ही मौत के कारणों का पता चलेगा।

लड़की के पिता सचिन प्रसाद ने बताया कि कुछ माह पूर्व उनकी बकरी रामकली देवी के खेत में चली गई थी। उस समय रामकली देवी काफी हंगामा की थी। बुधवार की देर संध्या उनकी पुत्री साक्षी रानी रामकली देवी के खेत के बगल से पगडंड़ी से जा रही थी। इसी दौरान पगडंड़ी पर रखा ईंट का एक टुकड़ा खेत में गिर गया। जिससे नाराज होकर रामकली देवी ने पैर से बच्ची के सीने पर वार की, जिससे वह बेहोश हो गई। बेहोश बच्ची को स्वजन जीएमसीएच लेकर पहुंचे। चिकित्सकों ने रेफर कर दिया तो मोतिहारी ले गए, जहां बच्ची की मौत हो गई। मृतका की मां सीमा देवी एवं भाई शिवम कुमार (6) रो रोकर बुरा हाल है।

समकालीन अभियान में छह वारंटी गिरफ्तार

चनपटिया। एसपी उपेंद्रनाथ वर्मा के निर्देश पर वारंटियों की गिरफ्तारी के लिए चलाए जा रहे विशेष अभियान में बुधवार की रात पुलिस ने छापेमारी कर छह वारंटियों को गिरफ्तार किया है। थानाध्यक्ष मनीष कुमार ने बताया कि सभी गिरफ्तार वारंटियों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। उनके विरुद्ध अलग-अलग मामलों में केस दर्ज था और वह फरार चल रहे थे, जिसमें थाना क्षेत्र के टिकुलिया निवासी गुल्ली महतो, बरवाचाप के बीरबल शर्मा, पकड़ीहार के कमलेश तिवारी, शंभुआपुर की सरिता देवी, पडुकिया के साधु यादव व रणवीर यादव शामिल हैं। थानाध्यक्ष ने बताया कि न्यायालय में पेश करने के बाद सभी को भेज दिया गया।

Edited By: Dharmendra Kumar Singh