शिवहर, जेएनएन। 'तोता रटंत'वाली शिक्षा का हश्र बुरा होता है और कभी कभी जानलेवा भी। यह केवल कहानियों में नहीं वरन दैनिक जीवन में भी देखने को मिल रहा। शिवहर में एक व्यक्ति ने अपने पिता की हत्या कर दी। वजह, पूर्व सैनिक पिता ने अपनी पेंशन में उसे हिस्सेदारी नहीं दी थी। जन्म देने से लेकर अब तक का पिता का उपकार केवल पेंशन में हिस्सेदारी नहीं देने के कारण खत्म हो गया और उसने बीती रात गोली मारकर उनकी हत्या कर दी।

हमेशा रहता था विवाद

घटना पिपराही थाना क्षेत्र के परसौनी बैज की है। यहां दो भाइयों क्रमशः गोविंद पांडेय एवं त्रिलोकी पांडेय के बीच भूमि एवं पिता की पेंशन राशि को लेकर हमेशा विवाद होता था। बार-बार की लड़ाई और अपने प्रति छोटे पुत्र के दुर्व्यवहार से परेशान पूर्व सैनिक पिता नंदू पांडेय ने बड़े पुत्र गोविंद के साथ रहने का निर्णय लिया। मां सुंदरवती देवी छोटे बेटे के साथ रहने लगीं। त्रिलोकी का कहना था कि मां मेरे साथ है इसलिए पेंशन की राशि में हिस्सा मुझे भी मिलनी चाहिए। लेकिन, नंदू ऐसा नहीं करते थे।

सोने के लिए जाने से पहले मारी गोली

रविवार की शाम सोने के लिए जाने से पूर्व नंदू लघुशंका करने गए। वहीं त्रिलोकी ने उन्हें सीने में गोली मार दी। जिससे उनकी वहीं मौत हो गई। सूचना पाकर एसडीपीओ राकेश कुमार, स्थानीय प्रभारी थानाध्यक्ष जितेंद्र महतो पहुंचे। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक के बड़े पुत्र ने पिपराही थाने में रपट लिखाई है। जिसमें मां सुंदरवती देवी एवं भाई त्रिलोकी पांडेय को नामजद किया है। फिलवक्त दोनों फरार हैं। पुलिस संभावित ठिकानों पर छापेमारी कर रही है। 

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस