दरभंगा, जासं। पूर्व सांसद व जन अधिकार पार्टी (लो.) के सुप्रीमो राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव शुक्रवार की सुबह कड़ी सुरक्षा के बीच मधेपुरा ले जाए गए। उन्हें दरभंगा मेडिकल कालेज, अस्पताल से कड़ी सुरक्षा के बीच विशेष एंबुलेंस से ले जाया गया। मधेपुरा जाने से पूर्व डीएमसीएच से निकलते वक्त पप्पू से मिलने और उन्हें देखने के लिए बड़ी संख्या में समर्थकों की भीड़ जमी रही। हालांकि, इस दौरान जिलाध्यक्ष डा. मुन्ना खान और महासचिव चुनमुन यादव व अन्य नेता भीड़ को संभालने में लगे रहे। नेताओं ने केंद्र व राज्य की सरकार पर श्री यादव को बेवजह प्रताड़ित करने का आरोप लगाया। कहा- सरकार जान बूझकर गरीबों के मसीहा की समस्याओं को बढ़ा रही है। जाप सुप्रीमो लोगों की सेवा में लगे हैं और सरकार उन्हें जेल में रखकर उनसे बदला लेने में लगी है। 

याद रहे कि अब से 15 साल पहले हुए अपहरण के एक मामले में पप्पू यादव को मधेपुरा पुलिस ने राजधानी पटना से गिरफ्तार किया था। उन्हें मधेपुरा ले जाया गया था, लेकिन तबीयत खराब हो जाने के बाद उन्हें तत्काल दरभंगा मेडिकल कालेज अस्पताल लाया गया था। उनका इलाज डीएमसीएच में चल रहा है। सूत्र बताते हैं कि संबंधित मुकदमे में शुक्रवार को पप्पू का बयान रिकार्ड किया जाना है। इससे पहले इस मामले में सभी संबंधित लोगों की गवाही पूरी हो चुकी है। अब केस में अंतिम फैसला आना है। 

जूता पहन नगर आयुक्त ने किया माल्यार्पण, हंगामा

मुजफ्फरपुर : नगर निगम कार्यालय परिसर में गुरुवार को पूर्व महापौर समीर कुमार की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि समारोह हुआ। इसमें शामिल होने के लिए बड़ी संख्या में सामाजिक एवं राजनीतिक लोग जुटे थे। पूर्व मंत्री सुरेश कुमार शर्मा के आने का इंतजार किया जा रहा था। इसी बीच नगर आयुक्त विवेक रंजन मैत्रेय ने बिना जूता उतारे समीर कुमार की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर दिया। इससे वहां मौजूद पूर्व मंत्री ई.अजीत कुमार, पूर्व उपमहापौर विवेक कुमार एवं राजद प्रवक्ता इकबाल मोहम्मद समी नाराज हो गए और जमकर नगर आयुक्त के खिलाफ आक्रोश जताया। नेताओं को नाराज होते देख अन्य लोग हंगामा करने लगे। नगर आयुक्त से प्रतिमा स्थल की सीढ़ी को साफ करने एवं माफी मांगने की मांग करने लगे। इससे वहां थोड़ी देर के लिए हंगामा की स्थिति उत्पन्न हो गई। मामले को शांत करने के लिए वार्ड 20 के पार्षद संजय कुमार केजरीवाल ने प्रतिमा की सीढ़ी साफ कर लोगों से शांत रहने का अनुरोध किया।

Edited By: Ajit Kumar