मुजफ्फरपुर, जेएनएन। Five idols of Ashtadhatu stolen from temple in Balra Kishun of Muzaffarpur कुढऩी थाना क्षेत्र के बलड़ा किशुन स्थित रामजानकी मठ से शनिवार की रात चोरों ने सौ साल पुरानी अष्टधातु की पांच मूर्तियां चोरी कर लीं। इनकी कीमत 20 लाख से अधिक बताई जा रही है। मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच के बाद संदेह के आधार पर पुजारी को हिरासत में ले लिया। 

पुजारी ने बताया कि शनिवार की रात करीब सात-आठ बजे हर दिन की तरह मंदिर में ताला लगाकर घर चले गए। रविवार की सुबह करीब छह बजे जब ताला खोला तो राम, सीता, लक्ष्मण, हनुमान व कृष्ण की मूर्तियां गायब थीं। चोर सिर्फ गणेश की मूर्ति छोड़ दिए थे। उन्होंने आसपास के लोगों को इसकी जानकारी दी। 

ताला खोलकर चोरी

कुंवर टोला स्थित रामजानकी मठ में चोरों ने न तो ताला काटा और न ही तोड़ा। दरवाजे में किसी प्रकार का निशान भी नहीं मिला है। बड़ी चालाकी से ताला खोलकर मूर्तियां चुराई गईं। इसके बाद चोरों ने फिर से ताला लगा दिया। किसी प्रकार की आवाज नहीं होने से आसपास के लोगों को भनक तक नहीं लगी। स्थानीय लोगों का कहना है कि रात में किसी को आते-जाते नहीं देखा और न ही कोई आवाज सुनी। 

केरमा व फुलवरिया मठ से लाकर रखी गई थीं दो मूर्तियां 

ग्रामीणों ने बताया कि प्रखंड स्थित केरमा व फुलवरिया मठ के जर्जर होने के बाद सुरक्षा की दृष्टि से दो मूर्तियां यहां लाकर रखी गई थीं। केरमा मठ से कृष्ण व फुलवरिया से भगवान राम की मूर्ति आठ-दस साल पहले यहां लाई गई थी। 

 कुढऩी थाना प्रभारी अरविंद कुमार सिंह का कहना है कि मामला संदिग्ध प्रतीत हो रहा है। संदेह के आधार पर पुजारी को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। डॉग स्क्वॉयड को बुलाया गया है। जल्द ही मामले का उद्भेदन कर लिया जाएगा। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस