मुजफ्फरपुर, जेएनएन। व्यवहार न्यायालय परिसर में शनिवार को राष्ट्रीय लोक अदालत लगाया गया। जिसमें कुल 1645 वादों का निस्तारण किया गया। उद्घाटन जिला जज सह जिला विधिक सेवा प्राधिकार के अध्यक्ष शैलेंद्र कुमार सिंह ने किया। इसके बाद सभी बैंकों, बिजली, परिवहन आदि विभागों ने अपने स्टॉल लगाए। जिन पर लंबित वादों का निस्तारण किया गया। कुल जुर्माने की रकम 11 करोड़ 9 लाख 28 हजार 230 रुपये वसूली गई।

 कोर्ट परिसर स्थित एआर बिल्डिंग कैंपस में लगी लोक अदालत में दिनभर वादों से संबंधित लोगों की भीड़ लगी रही। जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव राजीव रंजन सिंह ने बताया कि लोक अदालत में ज्यादा मामले बैंक रिकवरी से जुड़े थे। ज्यादा से ज्यादा मामलों का निष्पादन हो सके, इसे ध्यान में रखते हुए जिला जज ने दो सदस्यीय कुल सोलह न्यायिक बेचों का गठन किया था।

 राष्ट्रीय लोक अदालत मे दीवानी व फौजदारी के सुलह योग्य मामलों का आपसी सहमति के आधार पर मौके पर ही निपटारा किया गया। बैंक रिकवरी से जुड़े कुल 4678 मामले आए, जिनमें 1328 का निष्पादन किया गया। पांच करोड़ तीन लाख ग्यारह हजार रुपये की वसूली हुई। क्रिमिनल, लेबर डिस्प्यूट केस, बिजली बिल, मैट्रिमोनियल आदि से जुड़े कुल 1763 मामले आए, जिनमें 317 का निष्पादन किया गया। छह करोड़ छह लाख 17 हजार 230 रुपये की वसूली हुई। 

Posted By: Murari Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस