मुजफ्फरपुर, जेएनएन। ईदगाह और मस्जिदों से अल्लाहु अकबर, अल्लाहु अकबर... की सदा गूंजी। मुस्लिम समुदाय के लोगों ने ईद-उल-अजहा की दो रिकअत वाजिब नमाज अदा की। उसके बाद बकरे की कुर्बानी की गई। इस मौके पर गरीब-मोहताजों का विशेष ख्याल रखा गया। उनका हक उनके पास पहुंचाया गया। देर शाम तक खाने-खिलाने का क्रम चलता रहा। महिलाएं देर रात तक किचन में मशरूफ रहीं। बच्चों में पर्व को लेकर जबदस्त उमंग थी। लोग रिश्तेदारों के यहां भी पहुंचे। बुधवार तक कुर्बानी दी जाएगी। गोशाला ईदगाह में कमेटी के सचिव एवं पार्षद पति इकबाल कुरैशी समेत कमेटी के दर्जनों लोग सुविधा में जुटे रहे।

एक दूसरे से गले मिल कर दी मुबारकबाद

गोशाला ईदगाह, कंपनीबाग मस्जिद, बैंक रोड मस्जिद, कमरा मोहल्ला शिया मस्जिद, शिया मस्जिद, ब्रह्मपुरा, बारह मीनार मस्जिद, हसनचक बंगरा, कर्रार साहेब की मस्जिद, मदरसा जाम-ए-उल उलूम, गौसिया मस्जिद, जूरन छपरा, नूरी मस्जिद, ब्रह्मपुरा, खानकाह व इदारे तेगिया, मदरसा दीनीया गौसिया, दारुल उलूम अनवारे मुस्तफा, मदनी मस्जिद, माड़ीपुर, माड़ीपुर चौक मस्जिद, मस्जिद-ए-अहले हदीस, बख्शी कॉलोनी, माड़ीपुर ईदगाह, जंक्शन मस्जिद, जकरिया कॉलोनी मस्जिद, मस्जिद आले बैत, मुकर्री मस्जिद, औलिया मस्जिद, जुमा मस्जिद, पुरानी बाजार, रहमत मस्जिद, इमामुद्दीन खान मस्जिद, मदरसा नूरिया मेराजुल उलूम, मुस्लिम यतीमखाना, जूरन छपरा ईदगाह, पठानटोली मस्जिद, दामोदरपुर ईदगाह, तेगी जाम-ए-मस्जिद, कादरिया मस्जिद, छोटी बैरिया, मस्जिद नूर हजरत अली कॉलोनी, विशुनपुर गिद्धा मस्जिद समेत जिले की अधिकतर मस्जिदों में ईद-उल-अजहा की नमाज अदा की गई। गोशाला रोड स्थित ईदगाह में काफी संख्या में लोगों ने नमाज अदा की। यहां कई जनप्रतिनिधियों ने पहुंचकर लोगों को बकरीद की मुबारकबाद दी। उलेमा ने कहा कि कुर्बानी का मकसद सिर्फ जानवरों की कुर्बानी करना नहीं है, बल्कि अल्लाह के लिए अपनी प्यारी चीज को भी कुर्बान करने का जज्बा है।

माइनोरिटी फ्रंट के चेयरमैन के आवास पर मिलन समारोह

नेशनल माइनॉरिटी सोशल फ्रंट के चेयरमैन मो. सोहैल सिद्दीकी के इमामगंज स्थित आवास पर ईद-उल-अजहा के मौके पर मिलन समारोह का आयोजन किया गया। इसमें पूर्व राज्यसभा सांसद डाॅ. अनिल सहनी, बिहार विवि के सिनेट सदस्य डाॅ. नूर आलम खान, राजद के प्रदेश प्र्रवक्ता डाॅ. इकबाल मो. समी, मदरसा रसीदीया के चेयरमैन डाॅ. सुलेमान अख्तर, लालबाबू गोप, रंजीत चौधरी, डाॅ. इरफान अहमद, नौशाद हाशमी, मो. अशरफ वारसी, मो. राजा, कमलेश चौधरी, अनिल कुमार श्रीवास्तव, डाॅ. शब्बीर अब्बास समेत काफी संख्या में लोग शामिल हुए। सोहैल सिद्दीकी ने कहा कि ईद-उल-अजहा कुर्बानी का पैगाम देता है। अल्लाह के राह में कुर्बानी का जज्बा एवं देश के लिए हर कुर्बानी देने के लिए तैयार रहने का संदेश देता है।  

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ajit Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप