दरभंगा, जासं। दरभंगा मेडिकल कालेज, अस्पताल परिसर में एम्स निर्माण के चिन्हित जमीन को स्थानांतरित करने की प्रक्रिया चल रही है। इस बीच चिकित्सकों के सरकारी आवास पर अवैध कब्जे के कारण यह प्रक्रिया प्रभावित हो रही है। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए दरभंगा मेडिकल कालेज, अस्पताल के प्राचार्य डा. केएन मिश्रा ने सभी संबंधित लोगों को नोटिस की।

नोटिस किए छह दिन बीत भी गए, लेकिन संबंधित कर्मियों के कान पर जूं नहीं रेग रहा। अवैध कब्जा करनेवालों में दो में नर्स भी शामिल हैं, जो चिकित्सकों के आवास में हैं। बताया गया है कि आवास संख्या 11 में डा. सुधा भारती हैं। इनका स्थानांतरण राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय बेतिया में स्त्री एवं प्रसव रोग विभाग के अध्यक्ष के रूप में हो चुका है। सह प्राध्यापक डा. कन्हैया झा आवास संख्या 17 में हैं। इनका स्थानांतरण राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय मधेपुरा में हो गया है। ट्यूटर डा. सज्जन संजू आवास संख्या 16 में है। डा. धर्मेंद्र कुमार आवास संख्या 27 में हैं। इन दोनों ने भी आवास पर अवैध कब्जा कर रखा है। प्राचार्य की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि सरकारी आवासों में आवासित चिकित्सक शिक्षक जिनका स्थानांतरण अन्य संस्थानों में हो गया है। वे हर हाल में एक सप्ताह के भीतर सरकारी आवास खाली कर दें। ऐसा नहीं किए जाने पर जिला प्रशासन के सहयोग से चिकित्सकों को सरकारी आवास खाली करने की कार्रवाई की जाएगी। बता दें क‍ि च‍िक‍ित्‍सकों व कर्मचार‍ियों पर नोट‍िस का कोई असर नहीं हो रहा है। इसकी वजह से कार्य बाध‍ित है।

- सभी संबंधित लोगों को सूचना दी गई। आवास खाली करने के लिए एक सप्ताह की समय भी दिया गया, लेकिन अबतक आवास खाली नहीं किया गया है। इस दिशा में अब आगे जिला प्रशाशन के सहयोग से आवास खाली कराने की कार्रवाई की जाएगी। -डा. केएन मिश्रा प्राचार्य, दरभंगा मेडिकल कालेज, अस्पताल

Edited By: Dharmendra Kumar Singh