मुजफ्फरपुर : नगर थाना के सिकंदरपुर कुंडल निवासी सब्जी विक्रेता विनोद सहनी (48) की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। आक्रोशित स्वजनों व स्थानीय लोगों ने अहियापुर थाना क्षेत्र के दादर के पास मुख्य सड़क जाम कर हंगामा शुरू कर दिया। स्वजन उचित मुआवजे की मांग कर रहे थे। इससे कुछ देर के लिए आवागमन बाधित हो गया।

अहियापुर थानाध्यक्ष विजय कुमार ने आक्रोशित लोगों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन किसी ने नहीं सुनी। हंगामा व सड़क जाम से पूरा इलाका भीषण जाम की चपेट में आ गया। करीब दो घंटे की मशक्कत के बाद जाम समाप्त हुआ और पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

स्वजनों का आरोप : सब्जी विक्रेता के स्वजन रविंद्र ने बताया कि गुरुवार को वार्ड पार्षद के दरवाजे पर कोरोना वैक्सीन दी जा रही थी। विनोद ने वहां सेकेंड डोज ली थी। इसके बाद वह घर चला आया। अचानक उसकी तबीयत बिगड़ने लगी। वह बेचैन होकर तड़पने लगा। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। विनोद के पुत्र गोविंद ने बताया कि पिता सब्जी बेचकर परिवार चलाते थे। उनकी मौत से परिवार के भरण-पोषण के समस्या उत्पन्न हो गई है।

वर्जन : जिले में अब तक करीब 30 लाख लोगों को कोरोना का टीका लगाया जा चुका है। किसी तरह की कोई शिकायत नहीं मिली है। पोर्टल पर जांच करने पर 17 नवंबर को चकिया में वैक्सीन लेने की बात सामने आई है। मामला संदिग्ध लग रहा है। पोस्टमार्टम के बाद ही मौत के कारणों का पता चलेगा।

विनय कुमार शर्मा, सिविल सर्जन

Edited By: Jagran