मुजफ्फरपुर, जासं। नाले पर अतिक्रमण कर मकान और दुकान बनाकर बहाव को अवरुद्ध करने वालों के खिलाफ नगर निगम सख्त कदम उठाने जा रहा है। नाला पर अतिक्रमण करने वालों को चिह्नित करने वाले भवन मालिकों की सूची तैयार कर ली गई है। अब उनको कानूनी नोटिस भेजा जा रहा है। गुरुवार को नगर निगम ने 22 भवन मालिकों को नोटिस भेजकर 24 घंटे के अंदर जमीन और मकान के स्वामित्व के दस्तावेज व मकान का नक्शा प्रस्तुत कर अपना पक्ष रखने को कहा है।

 नोटिस का संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर निगम नियमानुसार भवन को बलपूर्वक ध्वस्त कर देगा और उसपर होने वाला व्यय भी मकान मालिक से वसूल करेगा। निगम ने जिन भवन मालिकों को नोटिस भेजा है उनमें रामदयालु मेनरोड निवासी उदय ङ्क्षसह, मनोज गुप्ता, भोला घोष व जय शंकर और मकरा मोहल्ला स्लूस गेट निवासी मो. निजामुद्दीन, मो. खलील, मदीना खातून, मो.अकबर, नजरे आलम, मो. मुख्तार अहमद, जय मंगल रजक, बाबू रजक, उपेंद्र रजक, गोङ्क्षवद यादव, मुकेश यादव, अर्जुन राम, तपेश राणा, चितरंजन कुमार, उमा शंकर पोद्दार, सुरेश चौधरी, रंधीर कुमार व रितु रंजन कुमार शामिल हैं। नगर आयुक्त विवेक रंजन मैत्रेय ने कहा कि नाला पर अतिक्रमण कर लिए जाने से पानी का बहाव अवरुद्ध हो जाता है। इससे कई मोहल्ले जलजमाव का शिकार हो जाते हैं। कमरा मोहल्ला में नाला पर अतिक्रमण कर लेने से आधा दर्जन मोहल्ले जलजमाव का शिकार हो जाते हैैं। इसलिए नाला पर अतिक्रमण करने वालों को इस बार बख्शा नहीं जाएगा। अतिक्रमण करने वालों को चिह्नित कर लिया गया है। उनको नोटिस भेजा जा रहा है।

यह भी पढ़ें: Extension of Lockdown in Bihar: कोविड मरीज के अटेंडेंट के लिए होगी खास व्यवस्था

यह भी पढ़ें : Bihar Lockdown Update: ग्रामीण क्षेत्रों के लिए होगी अलग व्यवस्था, मुजफ्फरपुर में होने जा रहे ये बदलाव

यह भी पढ़ें: Bihar: चार बच्चों के पिता को 'बुढ़ौती' में लगा प्रेम रोग, फिर तो पार कर दीं सारी हदें