मुजफ्फरपुर, जेएनएन। अतिक्रमणकारियों के खिलाफ निगम का बुलडोजर चला और देखते-देखते सड़क किनारे सजीं सैकड़ों अवैध दुकानें ध्वस्त हो गई। विरोध करने वालों पर पुलिस ने लाठी चटकाईं। प्रशासनिक सख्ती के सामने अतिक्रमणकारियों के हौसले पूरी तरह पस्त नजर आए। सभी अभियान का विरोध करने की जगह अपनी सामानों बचाने में लगे रहे। बता दें कि दो दिनों की मुनादी के बाद गुरुवार को जिला, पुलिस व नगर निगम प्रशासन की संयुक्त टीम ने पूरी तैयारी के साथ अतिक्रणकारियों पर धावा बोला।

धावा दल का नेतृत्व एसडीओ पूर्वी डॉ.कुंदन कुमार, सिटी एसी नीरज कुमार सिंह, टाउन डीएसपी राम नरेश पासवान, क्यूआरटी प्रभारी सुनील कुमार रजक, सिटी मैनेजर ओम प्रकाश, टैक्स दारोगा सुशील कुमार, राम नरेश प्रसाद यादव कर रहे थे। अभियान की शुरुआत मालगोदाम चौक से हुई। मालगोदाम चौक से डीडीसी आवास तक सड़क किनारे बस्ता का रुप ले चुकी अवैध दुकानें मलवा मेंं तब्दील हो गया। बुलडोजर चलते समय कुछ लोगों ने विरोध करने का प्रयास किया, लेकिन सख्ती के सामने उनकी एक नहीं चली। लोगों ने हंगामा करना शुरू किया तो पुलिस ने लाठीचार्ज कर सभी को खदेड़ दिया। पहले दिन मालगोदाम चौक से कंपनीबाग होते हुए सरैयागंज टावर तक अभियान चलाया गया। 

अभियान में रोड़ा डाल रहे छूटभैया नेता, कंपनीबाग से नहीं हटा अतिक्रमण 

अतिक्रमण के खिलाफ अभियान में छुटभैया नेता रोड़ा डाल रहे है। धावा दल जैसे ही प्रधान डाकघर के पास पहुंची और अवैध कब्जा हटाना चाहा तभी अंतिक्रमणकारियों को संरक्षण देकर अपनी पेट भरने वाले आधा दर्जन नेता सामने आ गए। अपनी पहुंच एवं पहचान के बल पर अभियान को रोकने का प्रयास किया। एसडीओ पूर्वी से बातचीत की, लेकिन एसडीओ पूर्वी उनकी दलीलों से प्रभावित नहीं हुए।  

 उन्होंने दुकानदारों को सामान हटाने के लिए एक घंटे का समय दिया, लेकिन बाद में धावा दल वहां से अतिक्रमण हटाए बिना वापस लौट आई। वहीं कंपनीबाग से अवैध दुकानों को नहीं हटाए जाने पर इमलीचट्टी के दुकानदार नाराज हैं। कहा कि यदि प्रशासन ने कंपनीबाग से अवैध दुकानों को नहीं हटाया तो वे फिर से अपनी दुकान लगाएंगे। 

इस बारे में एसडीओ पूर्वी डॉ. कुंदन कुमार ने कहा कि अतिक्रमणकारियों की कोई दलील नहीं सुनी जाएगी। सभी को हटाया जाएगा। जो स्वयं नहीं हटेंगे उनको सख्ती से हटाया जाएगा। हटाए गए स्थानों पर फिर से दुकानें सजी तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। 

Posted By: Ajit Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप