मुजफ्फरपुर, जेएनएन। बिहार में सांप्रदायिक ताकत से लडऩे के लिए कांग्रेस राजद के साथ चल रही है। वर्तमान समय में इसकी जरूरत है। बिहार प्रदेश संगठन प्रभारी व अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के सचिव बीरेन्द्र सिंह राठौर ने कहा कि बिहार की जनता केन्द्र व राज्य सरकार की गलत नीतियों से त्रस्त है। तिलक मैदान स्थित पार्टी कार्यालय में पार्टी कार्यकर्ताओं ने उनको कहा कि बिहार राजद से अलग होकर पार्टी लडे ज्यादा फायदा होगा। पार्टी नेताओं ने कहा कि भाजपा की तरह राजद से भी दूरी बनाकर चलने की जरूरत है।  

 पार्टी प्रभारी राठौर ने सवाल उठाया कि बिहार के कोटा से केन्द्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह व खाद्य उपभोक्ता मामले के मंत्री रामविलास पासवान आते है। लेकिन बिहार के किसानों को उनके उत्पाद का समर्थन मूल्य दिलाने, समय पर बीज व खाद उपलब्ध कराने में दोनों फेल है। सरकार किसानों के शत प्रतिशत धान को क्रय नहीं कर पा रही है। अगर देश में कांग्रेस की सरकार आई तो किसानों के शत प्रतिशत पैदावार सरकार खरीद करेगी।

 3 फरवरी को गांधी मैदान में पार्टी कार्यकर्ताओं व किसानों से राष्ट्रीय अध्यक्ष सांसद राहुल गांधी सीधा संवाद करेंगे। उनकी समस्या को सुनेंगे। वहीं से किसान, मजदूर के हक की लड़ाई का शंखनाद होगा। इससे पहले जिलाध्यक्ष सूरज दास, पार्टी नेता अरविंद मुकुल, उमाशंकर सिंह, मनौव्वर राणा, कुणाल सहाय, जीतेन्द्र कुमार, अब्दुल बारिश उर्फ सद्दाम, चंदन, सुशील शाही ने उनका स्वागत किया।  

Posted By: Ajit Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप