मुजफ्फरपुर, जेएनएन। जीआई टैग से संबद्ध शाही लिची अब पककर पूरी तरह तैयार हो गई है। राष्ट्रीय लीची अनुसंधान केंद्र के निदेशक डॉ विशाल नाथ ने शाही लीची के पूरी तरह तैयार होने की आधिकारिक घोषणा कर दी है। बताया है कि शाही लीची की गुणवत्ता अब मानक स्तर पर पहुंच गई है। 

अनुसंधान में पाया गया है कि लीची का मानक 20 ग्राम होना चाहिए। जांच में लीची का वजन 22 ग्राम पाया गया है। इसकी मिठास का मानक 19 डिग्री ब्रिक्स है। जबकि जांच में 19.7 डिग्री ब्रिक्स पाया गया है। अम्लता का पैमाना 0.50 फ़ीसदी से कम होना चाहिए। जांच में यह 0.51 फीसद पाया गया है। मिठास और अम्लता का अनुपात 40 फीसद से अधिक होना चाहिए, जो उन 39.4 फीसद पाया गया है। बताया कि अब शाही लीची का वजन 22 ग्राम तक हो गया है। एक-दो दिन में वजन और बढ़ेगा। अब इसकी तुड़ाई का वक्त आ गया है।

इस बार चाइनीस लीची की अच्छी फसल की संभावना है। 6 से 7 जून तक चाइनीस लीची भी तैयार हो जाएगी। पुरवा हवा के मद्देनजर उन्होंने किसानों से चाइनीस लीची में थियाक्लोप्रिड तथा लेम्डाहाइसालोथ्रिन या नोवाल्यूरॉन का तुरंत अतिरिक्त छिड़काव करने का एडवाइजरी जारी की है। बताते चलें कि शाही लीची अब पककर पूरी तरह तैयार हो गई है। स्थानीय बाजार से लेकर प्रदेश तक इसकी आपूर्ति भी जारी है। जबकि, उद्यान विभाग द्वारा डाकघर की मदद से इसकी होम डिलीवरी भी की जा रही है। ऑनलाइन बुकिंग में लोगों की दिलचस्पी भी बढ़ी  है। 

Posted By: Murari Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस