मुजफ्फरपुर : भारत की एकता और अखंडता के लिए बलिदान देने वाले भारतीय जनसंघ के संस्थापक डा.श्यामा प्रसाद मुखर्जी का व्यक्तित्व एवं जीवनीशैली प्रेरणादायक है। ये बातें जिला भाजपा कार्यालय में डॉ. मुखर्जी की पुण्यतिथि की पूर्व संध्या पर आयोजित विचार एवं प्रेरणा संगोष्ठी में जिलाध्यक्ष रंजन कुमार ने कहीं। उन्होंने कहा कि कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग बनाए रखने में उनकी भूमिका अहम है। पुण्यतिथि पर उनके आदर्श व विचारों को आत्मसात कर 'एक भारत, श्रेष्ठ भारत' के सपनों को साकार करने में भूमिका का निर्वाह करने का कार्यकर्ताओं से आह्वान किया।

मुख्य अतिथि प्रदेश उपाध्यक्ष डा. राजेश कुमार वर्मा ने कहा कि द्विराष्ट्र की विचारधारा ने जब भारत की आजादी के आंदोलन को प्रदूषित कर देश विभाजन को बाध्य किया था तो डा. मुखर्जी ने बंगाल को पाकिस्तान में मिलाने के खिलाफ आंदोलन किया। इससे पाकिस्तान को आधा बंगाल ही मिला। संगोष्ठी को प्रदेश उपाध्यक्ष बेबी कुमारी, पूर्व विधायक केदार गुप्ता, सीतामढ़ी जिला प्रभारी विवेक कुमार, पूर्व प्रत्याशी अर्जुन राम एवं जिला उपाध्यक्ष हरिमोहन चौधरी ने भी संबोधित किया। संचालन जिला महामंत्री सचिन कुमार तथा धन्यवाद ज्ञापन महामंत्री मनोज कुमार सिंह ने किया। संगोष्ठी में मनोज कुमार सिंह, जिला उपाध्यक्ष मनीष कुमार, हरिमोहन चौधरी, निर्मला साहू, मंत्री राजकुमार साह, जिला प्रवक्ता सिद्धार्थ कुमार, प्रभात कुमार, राजीव कुमार, भाजयुमो जिलाध्यक्ष नचिकेता पांडेय, उमेश पांडेय, रामबालक शर्मा, विशेश्वर प्रसाद शंभू, मो. शाहिद, ओम प्रकाश तिवारी, आइटी सेल संयोजक अभिषेक सौरभ, कृपा शंकर सर्राफ, आनंद कृष्ण, अंजनी कुमार नथानी, विजय पांडेय, हरि किशोर बैठा, मनोज नेता, दीपक पोद्दार, अमर नाथ गुप्ता,दिलीप कुमार आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran