सरायरंजन (समस्तीपुर), संस। बिहार में अभी चुनाव भले ही न हो, लेकिन राजनीतिक घटनाक्रम लगातार तेज है। सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों ओर। इस बीच सत्ताधारी बिहार एनडीए को लेकर भी तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। एनडीए के दो प्रमुख घटक दल भाजपा व जदयू के वरीय नेताओं की ओर से दिए गए बयान ने इसको हवा देने का काम भी किया है। इसी क्रम में जदयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा एक के बाद एक बयान दे रहे हैं। एनडीए इज नीतीश कुमार, नीतीश कुमार इज एनडीए कहने के बाद उन्होंने भाजपा के वरीय नेता व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय के गढ़ में एक बड़ा बयान दिया है। कहा, बिहार में नीतीश कुमार से बेहतर दूसरा कोई मुख्यमंत्री नहीं हो सकता है। इस बयान को राजनीति के जानकार एक संदेश के रूप में देख रहे हैं। कुछ तो इसे एनडीए व महागठबंधन दोनों को संदेश मान रहे हैं। देखना होगा कि राजनीति के इस संकेत का क्या प्रभाव भविष्य में देखने को मिलता है।

 

विकास को लेकर नीतीश कुमार का विजन साफ

समस्तीपुर के मुसरीघरारी में जदयू कार्यकर्ताओं से बातचीत में उन्होंने कहा कि सीएम नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार लगातार तरक्की कर रहा है। विकास के लिए नीतीश कुमार का विजन पूरी तरह से साफ है। आगे भी बिहार का विकास उनके नेतृत्व में ही संभव होगा। इसके साथ ही उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं को भी और मजबूती से काम करने का संदेश दिया। कहा, पार्टी के संगठन की मजबूती पर विशेष रूप से ध्यान देने की जरूरत है। उन्होंने सात निश्चय योजना को भी आमलोगों तक पहुंचाने की बात कही। जिससे साधारण से साधारण आदमी भी जदयू से जुड़ सके।

संदेश देने की कोशिश

उपेंद्र कुशवाहा के बयान की टाइमिंग व स्थान को महत्वपूर्ण माना जा रहा है। राजद सबसे बड़ी पार्टी बन गई है। उसके नेता सरकार बनाने की बात कह रहे हैं। संख्या समीकरण को देखते हुए बिना खेल के यह संभव नहीं दिख रहा है। वहीं दूसरी ओर भाजपा से नित्यानंद राय के सीएम फेस होने की चर्चा होती रहती है। इसलिए उजियारपुर संसदीय क्षेत्र के मुसरीघरारी में उपेंद्र कुशवाहा के इस बयान को बतौर संदेश देखा जा रहा है कि कोई नीतीश कुमार के रहते सीएम बनने का सपना नहीं देखे।

Edited By: Ajit Kumar