मुजफ्फरपुर, जागरण संवाददाता। टीवी रिचार्ज का झांसा देकर साइबर फ्राड ने निजी कंपनी के सेल्स अफसर गोबसही इलाके के रविशंकर कुमार के क्रेडिट कार्ड से दो लाख रुपये का आनलाइन ट्रांजेक्शन कर लिया। मामले में उन्होंने सदर थाने में शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस को दिए आवेदन में उन्होंने बताया कि टीवी केबल के सेटअप बाक्स में सिग्नल नहीं आने पर इसकी शिकायत कंपनी के टोल फ्री नंबर पर की। सात अगस्त को कंपनी के कर्मी ने सेटअप बाक्स को चेंज कर दिया। आपरेटर द्वारा कहा गया कि चार सौ रुपये का रिचार्ज करा लेते हैं तो वैधता एक महीने के लिए बढ़ जाएगी। उस दिन वे रिचार्ज कराना भूल गए। अगले दिन शाम साढ़े पांच बजे कंपनी के मोबाइल से काल आया। उसने पूछा आपने रिचार्ज करा लिया या नहीं। इस पर आवेदक ने बताया कि रिचार्ज नहीं कराया है। तब बताया गया कि सिर्फ 50 रुपये से आपको रिचार्ज करना है। आप अभी कर लीजिए।

इसके बाद एक निजी बैंक के क्रेडिट कार्ड से रिचार्ज करने की कोशिश की, लेकिन ओटीपी नहीं आने पर रद कर दिया। इसके बाद पुन : पत्नी के क्रेडिट कार्ड से रिचार्ज किया। इसके बाद सेटअप बाक्स में बैलेंस आ गया। इस पर कंपनी की तरफ से फिर काल आया। इसमें कहा कि 10 रुपये का रिचार्ज और कर लेते तो वैधता डेढ़ महीने बढ़ जाएगी। इसके बाद से उनके क्रेडिट कार्ड से फ्राड शुरू हो गया। आठ अगस्त को ही उनके क्रेडिट कार्ड से पांच बार में करीब दो लाख रुपये आनलाइन ट्रांजेक्शन कर लिए गए। सदर थाने की पुलिस का कहना है कि जांच कर कार्रवाई की जा रही है। जिस नंबर से काल आया था, उसका डिटेल्स निकाला जा रहा है। मालूम हो कि साइबर फ्राड गिरोह के बदमाश तरह-तरह के हथकंडे अपनाकर लोगों को चूना लगा रहे हैं। पिछले पखवारे बिजली कनेक्शन काटने का मैसेज भेजकर साइबर फ्राड ने एलएस कालेज के रिटायर्ड शारीरिक निदेशक के खाते से तीन लाख रुपये उड़ा लिए थे। इसके अलावा और कई लोगों के खाते से तरह-तरह का झांसा देकर साइबर फ्राड की घटनाएं हो चुकी हैं।  

Edited By: Ajit Kumar