बगहा, जासं। पंचायत चुनाव को लेकर प्रशासनिक स्तर पर तैयारी जोर पकड़ने लगी है। बगहा दो बीडीओ जयराम चौरसिया ने बताया कि प्रख्ंड की सभी 25 पंचायतों को मिलाकर कुल 385 बूथ हैं। जिनमें 136 बूथ नक्सल प्रभावित घोषित किए गए हैं। जबकि 99 बूथों को अति संवेदनशील की श्रेणी में रखा गया है। जबकि 50 बूथ संवेदनशील की श्रेणी में हैं। यहां पर अतिरिक्त फोर्स की तैनाती की जाएगी।इन सभी बूथों पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच निर्धारित समयावधि तक मतदान होगा। बूथों व उनके आसपास पर्याप्त संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती की जाएगी। मतदान के दिन अनाधिकृत रूप से किसी के भी प्रवेश पर निषेध रहेगा। प्रशासनिक महकमा हर बिंदु पर मंथन कर रहा है। संबंधित बीएलओ को निर्देश दिया गया है कि वे बूथों तक पहुंचने का नजरी नक्शा तैयार कर समर्पित करें। जिसके आधार पर आगे की कवायद की जाएगी। उल्लेखनीय है कि बगहा दो प्रखंड में पांचवे चरण में मतदान होना सुनिश्चित है।

856 पदों पर होगा चुनाव

बगहा दो प्रखंड में मुखिया, सरपंच, वार्ड सदस्य, पंच, पंचायत समिति सदस्यों और जिला परिषद सदस्यों के कुल 856 पदों पर चुनाव होगा। मतदान शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हो, इसके लिए प्रखंड को 25 सेक्टरों में बांटा गया है। हर सेक्टर में एक सेक्टर दंडाधिकारी की तैनाती रहेगी। जो भ्रमणशील रहेंगे। इसके अलावा चुनाव पर्यवेक्षक, निर्वाची पदाधिकारी सह बीडीओ समेत अन्य अधिकारी मतदान की तिथि को भ्रमणशील रहेंगे।

सेक्टर मजिस्ट्रेट करेंगे बूथों का भौतिक सत्यापन, देंगे रिपोर्ट

बगहा एक बीडीओ कुमार प्रशांत ने बताया कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए आदर्श आचार संहिता लागू है। हमें हर हाल में पंचायत चुनाव को शांतिपूर्वक और निष्पक्ष संपन्न कराना है। इसके लिए सभी का सहयोग आवश्यक है। सबसे पहले बूथों का भौतिक सत्यापन किया जाना है। इसके संवेदनशील बूथों सहित सभी बूथ शामिल हैं। कहा कि सभी बूथों पर आवागमन के लिए सड़कों का सत्यापन के साथ ही वहां उपलब्ध सुविधा संसाधन जैसे बिजली, शौचालय, शुद्ध पेयजल सहित भवन आदि की भी भौतिक सत्यापन कर रिपोर्ट सौंपे। इसके उपरांत बीडीओ ने बिंदुवार मतदान केंद्रों पर सभी उपस्थित अधिकारियों ने चर्चा की। बाढ़ के दौरान मतदान केंद्रों पर जाने वाली सड़कों का भी हाल जाना। संवेदनशील बूथों को चिन्हित करते हुए वहां सभी व्यवस्था अपडेट करने की बात कही गई। 

Edited By: Ajit Kumar