मधुबनी, जासं। महिलाओं के खिलाफ अत्याचार अपने समाज के लिए नई बात कतई नहीं है, लेकिन कुछ घटनाएं ऐसी होती हैं जिसे देख-सुनकर हमलोगों के 21वीं सदी में पहुंचने पर शक होने लगता है। मधुबनी जिला अंतर्गत खिरहर में कुछ इसी तरह की घटना हुई। जहां एक महिला को डायन बताकर उसके बाल काटे गए। उसके बाद उसे मैला पिलाया गया और इंतहा देखिए, उसी हालत में पूरे गांव में घुमाने की कोशिश भी की गई। आरोपितों की धृष्टता देखिए, बीच बचाव करने आए पीड़िता के पति व देवर को मारपीट कर जख्मी कर दिया।

संपत्ति पर काबिज हो जाने का खेल 

किसी महिला को डायन बताकर उसे पूरे समाज की नजर में कमजोर कर देना और फिर उसकी संपत्ति पर काबिज हो जाने का खेल भी शुरू हो गया है। जिला अंतर्गत खिरहर थाना क्षेत्र के एक गांव में ऐसा ही कुछ देखने में आया है। जहां एक एक महिला को डायन बताकर मैला पिलाया गया। साथ ही बाल काटकर गांव में घुमाने की कोशिश की गई। इस बाबत महिला ने प्राथमिकी दर्ज कराई है। बताया कि पैतृक जमीन पर चार महीने से घर बनाने के लिए बालू, ईंट और गिट्टी रखी है। पूर्व में बना घर ध्वस्त हो गया। यह जमीन ससुर के पिता से मिली है। जब घर बनाने गई तो बगल के राधेश्याम ठाकुर, मनतोर देवी, रंजना देवी, साहरघाट थाना क्षेत्र के उतरा निवासी मौसम चौधरी, रौशन चौधरी, रीता देवी, प्रियंका देवी, काजल देवी समेत दो अज्ञात ने मिलकर मारपीट की। साड़ी खींच ली और गले से 60 हजार के आभूषण लूट लिए। इसके बाद आरोपितों ने देवरानी को घसीटकर पटक दिया। कहा कि यह डायन है। इसे मैला पिलाकर बाल काट दो, फिर चूना लगाकर गांव में घुमाओ। बीचबचाव करने आए पति और देवर को भी मारपीट कर जख्मी कर दिया। थानाध्यक्ष अंजेश कुमार ने कहा कि प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। मामले की जांच के कार्रवाई होगी।