मुजफ्फरपुर : मोतीपुर प्रखंड की महमदपुर महमदा पंचायत के डीलरों की मनमानी के खिलाफ बुधवार को उपभोक्ताओं ने प्रखंड परिसर में आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन किया। प्रदर्शन कारियों ने एमओ पर डीलरों से मिलीभगत का आरोप लगाते हुए उनके विरूद्ध नारेबाजी की। नेतृत्व पसंस पति प्रमोद कुमार महतो ने किया। मौके पर वक्तताओं ने कहा कि नवंबर माह का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार की ओर से मिलने वाली निशुल्क खाद्यान्न का डीलरों द्वारा गबन कर लिया गया है। साथ ही कोरोना काल में प्रवासी मजदूरों को राशन नहीं दी गई। साथ ही बाढ़ राहत, जलनल, शौचालय निर्माण में बिचौलियों द्वारा अनियमितता की गई। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत प्रखंड प्रशासन द्वारा अंतिम कि़स्त की राशि के लिए लाभुकों को दौड़ाया जा रहा है। कोरोना काल में सैनिटाइजर, मास्क आदि वितरण में मखिया द्वारा बड़े पैमाने पर घोटाला किया गया। धरनास्थल पर पहुंचे बीडीओ प्रशात कुमार ने एक सप्ताह में सभी बिंदुओं पर जाच कर कार्रवाई का आश्वासन दिया। मौके पर महादेव साह, बच्चेलाल साह, राजवंशी साह, शकर पटेल, चंपा देवी, प्रमोद महतो, महेंद्र महतो, लतीफ अंसारी, कुंजेश कुमार, टुनटुन महतो आदि थे।

वंचित पीड़ितों को बाढ़ राहत देने की मांग

मुरौल प्रखंड की सादयियकपुर मुरौल के पंचायत सरकार भवन में राष्ट्रीय जन कल्याण विकास मोर्चा के तत्वावधान में बैठक हुई जिसकी अध्यक्षता राजेश कुमार महतो व संचालन संघर्ष कुमार राजन ने किया। बैठक में महमदपुर में तिरहुत नहर का बाध टूटने के बाद बाढ़ राहत वंचित लाभाíथयों को लाभ देने एंव बांध के तटबंध की मरम्मत कराने, मालगुजारी रसीद काटने, जमाबंदी अलग करने के लिए कैंप लगाने, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से वंचित को लाभ देने, एलपीसी का प्रमाणपत्र 18 वर्ष के ऊपर को निर्गत करने की माग की गई। मौके पर शकर पासवान, मनोज कुमार, नंदकिशोर राय, मोहन पासवान, गुंजेश कुमार ठाकुर, सोनेलाल पासवान उपस्थित थे।

Edited By: Jagran