मुजफ्फरपुर। पूर्व मंत्री व कांटी से विधायक रहे हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) के नेता अजीत कुमार से 10 लाख की रंगदारी मांगने व हत्या की धमकी देने के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। घटना की प्राथमिकी दर्ज करने के 12 घंटे के भीतर सदर थाने की पुलिस ने कॉल डिटेल्स व टॉवर लोकेशन के आधार पर आरोपी को धर दबोचा। उसकी पहचान कांटी नरसंडा इलाके के मो. नौशाद के रूप में हुई है।

आरोपी को अहियापुर थाना क्षेत्र के भिखनपुर इलाके से पकड़ा गया, जहां वह दर्जी का काम करता है। उसके पास से दो मोबाइल सेट व इस्तेमाल किए जा रहे सिम को बरामद कर लिया गया है। वह अजीत कुमार के खिलाफ विधानसभा चुनाव भी लड़ चुका है।

भाई से बदला लेने की साजिश

पुलिस पूछताछ में नौशाद ने बताया कि उसका अपने भाई मो. मुस्तफा से संपत्ति विवाद चल रहा है। भाई से बदला लेने के लिए उसने उसके नाम पर सिम निकासी कर इस तरह की साजिश रची। पुलिस का कहना है कि मोबाइल पोर्टबिलटी के तहत कर्नाटक का सिम यहां पर यूज किया जा रहा था।

पड़ोसी गांव का निकला आरोपी

गिरफ्तार आरोपी पूर्व विधायक अजीत कुमार के पड़ोसी गांव का निकला। नौशाद उनके विरुद्ध विधानसभा का चुनाव लड़ चुका है। आरोपी की गिरफ्तारी होने के बाद पूरे इलाके में तरह-तरह की चर्चा हैं।

बोले पूर्व मंत्री- विरोधी की साजिश, जांच करे पुलिस

इस बाबत पूर्व मंत्री अजीत कुमार का कहना है कि इसमें बड़े विरोधी की गहरी साजिश है। पकड़ा गया आरोपी इस तरह रंगदारी नहीं मांग सकता। पुलिस को इसकी गहराई से जांच करने की जरूरत है।

................................

"रंगदारी मांगने का खुलासा हो गया है। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। भाई को फंसाने के लिए उसने ऐसा किया था। स्पीडी ट्रायल चलाकर आरोपी को सजा दिलाई जाएगी।"

- रंजीत कुमार मिश्रा (एसएसपी)

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस