मुजफ्फरपुर। कांटी के श्रीसियां गांव स्थित अपने घर के निकट बैठे अखिल विद्यार्थी परिषद के नेता केसरीनंदन शर्मा को मारने पल्सर बाइक से पहुंचे एक अपराधी ने हेलमेट पहन रखा था। जबकि बाइक पर पीछे बैठा शूटर चेहरे को रूमाल से ढक रखा था। नजदीक में बाइक खड़ी करने के बाद हेलमेट पहने युवक ने कहा यही है केसरी। उसके इतना कहते ही शूटर ने सामने से फायर झोंक दिया। केसरींनंदन जब तक कुछ समझ पाते तब तक उन्हें एक गोली लग गई थी। अपराधी उन्हें जिंदा नहीं छोड़ना चाह रहे थे, इसलिए दूसरी गोली भी दाग दी। यह अलग बात रही कि गोली सीने में न लगकर हाथ में लगी। वे वहीं गिर गए। उन्हें मृत समझ कर दोनो युवक बाइक से भाग चले। गोली की आवाज सुनकर आसपास के लोग वहां दौड़े और उन्हें इलाज के लिए बैरिया स्थित अस्पताल में पहुंचाया।

पहले से ही की जा रही थी रेकी : जिस तरह से घटना को अंजाम दिया उससे साफ पता चलता है कि अपराधियों ने छात्र नेता की रेकी की। सुबह-सुबह वे कहां बैठे हैं इसकी मुकम्मल जानकारी उन्हें थी। भले ही गोली मारने वाले बाहरी अपराधी हो लेकिन उन्हें पहचानने वाला कोई स्थानीय ही हो। आसपास का कोई व्यक्ति उन पर नजर रख रहा था।

सुपारी किलर की आशंका : छात्र नेता पर गोली मारने के लिए भाड़े पर अपराधियों को लाया गया। उन पर गोली चलाने वाला उन्हें पहचान नहीं रहा था। जबकि उन तक पहुंचाने वाला बाइक सवार पहचान रहा था। पहचान सामने नहीं आए इसलिए उसने हेलमेट पहन रखा था। आशंका है कि घटना पूरी प्लानिंग के साथ की गई। इसके पीछे कई लोग लगे हो। घटना किसी बड़े साजिश की ओर इशारा कर रही है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस