मुजफ्फरपुर। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार रविवार को चक्कर मैदान में एनसीसी कैडेट्स की दो दिवसीय बी सर्टिफिकेट परीक्षा शुरू हुई। प्रथम दिन 710 कैडेट्स शामिल हुए। जिसमें 601 लड़के व 109 लड़कियां शामिल हैं। सोमवार की शाम तक यह परीक्षा चलेगी। प्रथम पाली में लिखित तथा द्वितीय पाली में प्रायोगिक परीक्षा हुई। सोमवार को भी पूरी दिन प्रैक्टिकल परीक्षा होगा। इसमें कैडेट़्स को गन फायर से लेकर कई तरह की प्रैक्टिकल परीक्षा ली जाती है।

इसमें मुजफ्फरपुर, वैशाली, सीतामढी, शिवहर, मोतिहारी एवं बेतिया जिले के बिहार बटालियन 32, 25 एवं 2 के एनसीसी कैडेट़्स शामिल हैं। 32 बिहार बटालियन मुजफ्फरपुर द्वारा इस परीक्षा का आयोजन किया जा रहा है। इसका नेतृत्व कर्नल वीके कालरा समादेशी अधिकारी 8, बिहार बटालियन कर रहे है। उनके साथ लेफ्टिनेंट कर्नल एनएलएस यादव, सूबेदार मन बहादुर केसी, सूबेदार बासनेट, अमर बहादुर, गिरधारी, हवलदार धीरज, दीपक, झक बहादुर, अर्चना, शेख, प्रमोद झा आदि सहयोग कर रहे है। बी सर्टिफिकेट परीक्षा का लाभ

बी सर्टिफिकेट परीक्षा में उत्तीर्ण होने के बाद कैडेट्स सी सर्टिफिकेट के लिए दाखिला ले सकते हैं। सेना बहाली की लिखित परीक्षा में 10 अंक अधिक दिया जाता है। उच्च शिक्षा में दाखिला लेने पर छूट मिलती है। सबसे महत्वपूर्ण उपलब्धि यह है कि अनुशासन और एकता का पाठ इन्हें पढ़ाया जाता है जो किसी भी क्षेत्र में ये कैडेट जाएंगे उन्हें इसका लाभ मिलेगा। केंद्र सरकार के रक्षा मंत्रालय द्वारा चलाए जाने वाली यह संस्थान देश की मुख्य धारा में शामिल होने का सुनहरा अवसर प्रदान करता है। युवाओं को इसमें बढ़-चढ़कर हिस्सा लेनी चाहिए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस