मुजफ्फरपुर, {अमरेंद्र त‍िवारी}। मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के तहत जिले मेें 17 नए उद्यमियों का चयन किया गया है। इसके साथ ही यह संख्या बढ़कर 699 हो गई है। इसके लिए विभाग की ओर से 27.5 करोड़ राशि देने का प्रविधान किया गया है। सभी को पहले चरण में प्रशिक्षण दिया गया है। अब सभी के प्रोजेक्ट को सत्यापित करने के बाद चयनित उद्यमियों के खाते में पहली किस्त की राशि दी जाएगी। जानकारी के अनुसार पहले 102 प्राजेक्ट के लिए दस लाख की अधिकतम राशि देने की योजना बनी थी। इधर उसमें संशोधन करते हुए 49 प्रोजेक्ट के लिए ही अधिकतम दस लाख की राशि दी जाएगी। जिन ट्रेड को अधिकतम दस लाख के दायरे से हटाया गया है उनमें ब्यूटी पार्लर, मोबाइल रिपेयर‍िंग, टेंट हाउस जैसे प्रोजेक्ट शामिल हैं। मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के तहत मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना, मुख्यमंत्री महिला उद्यमी योजना, मुख्यमंत्री अनुसूचित जाति जनजाति उद्यमी योजना तथा मुख्यमंत्री अति पिछड़ा वर्ग उद्यमी योजना को शामिल किया गया है।

उद्यमियों को दिया गया प्रशिक्षण 

मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के तहत चयनित लाभार्थियों को बैंक व जिला उद्योग कार्यालय से जुड़े अधिकारी खाता-बही, जीएसटी खाता संचालन, श्रम कानून, क्रेडिट-डेबिट, बुक कीङ्क्षपग व बैंक से जुड़े मामलों का प्रशिक्षण दिया गया। प्रोजेक्ट रिपोर्ट के संबंध में क्या व्यवस्था है, उसके बारे में भी बताया गया।

इन यूनिटों को लगाएंगे उद्यमी 

बेकरी उत्पाद, पशु आहार, मुर्गी दाना, तेल मिल, मसाला, नमकीन, आइसक्रीम, जैम-जेली-सास, दाल मिल, पापड़ एवं बड़ी, आटा- बेसन, पापकॉर्न, पोहा-चूड़ा, मधु प्रसंस्करण, फलों के जूस, मिठाई, बोतल बंद पानी, बांस के सामान- फर्नीचर, फ्लाई एश ब्रिक्स, पूर्व निर्मित भवन निर्माण सामग्री, सीमेंट ब्लाक एवं टाइल्स, प्लास्टर आफ पेरिस, मार्बल कट‍िंंग, डिटर्जेंट पाउडर, साबुन एवं शैंपू, मच्छर भगाने का टिकिया, डिस्पोजेबल डाइपर एवं सेनेटरी नैपकिन, ब‍िंदी व मेहंदी, केश तेल, प्लास्टिक सामग्री बाक्स, पीवीसी जूते, अल्युमीनियम फर्नीचर, कृषि यंत्र, गेट ग्रिल एवं वेङ्क्षल्डग, हास्पिटल बेड व ट्राली, हल्के वाहन के बाडी, आभूषण निर्माण वर्कशाप और स्टील बाक्स आदि की यूनिट लगेंगी।

--मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के तहत वित्तीय वर्ष 2021- 22 के लिए 699 लोगों का चयन किया गया है। प्रजोक्ट चयनित करने का काम एक माह में पूरा किया जाएगा। - धर्मेंद्र कुमार स‍िंह, महाप्रबंधक

जिला उद्योग केंद्र

Edited By: Dharmendra Kumar Singh