पूर्वी चंपारण, जेएनएन। रक्सौल मुख्यालय द्वारा प्रेषित प्रबल डाटा के सत्यापन के क्रम में रक्सौल आरपीएफ इंस्पेक्टर राजकुमार ने बुधवार की देर रात घोड़ासहन थाना के सहयोग से छापेमारी की । इस दौरान वहां स्थित दो साइबर कैफे से भारी मात्रा में रेल ई टिकट, नकद सहित दो संचालकों को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया। इंस्पेक्टर ने बताया कि घोड़ासहन स्थित सुशील आर्ट्स साईबर कैफे नामक दुकान मे छापेमारी कर दुकानदार सुजीत कुमार के पास से पर्सनल आईडी पर बना हुआ रेलवे का 5 अदद फ्यूचर ई टिकट कीमत 8448 रुपये, 4 अदद पास्ट ई टिकट कीमत 8927 रुपये कुल कीमत 17376 रुपये, एक मोबाइल, एक लैपटॉप व एक डेस्क टॉप सेट कैश 5700 रुपये के साथ गिरफ्तार किया गया।

 संचालक आईआरसीटीसी का अधिकृत एजेंट नहीं है। इसके पास से पांच पर्सनल आईडी भी मिला। साथ ही इसी जगह आरपीएफ ने एके वर्ल्ड साईबर कैफे में छापेमारी कर संचालक आकाश कुमार के पास से रेलवे का दो अदद फ्यूचर रेल ई टिकट, 10 अदद पास्ट रेल ई टिकट कुल कीमत 28 हजार 72 रुपए व एक मोबाइल, एक लैपटॉप, एक डेस्क टॉप सेट कैश 7 हजार के साथ गिरफ्तार गिरफ्तार किया गया। इनके पास से 5 पर्सनल आईडी भी पाया गया। एक अतिरिक्त सॉफ्टवेयर रीयल मैनगो पाया गया।जो निष्क्रिय था।

 संचालक ने बताया कि वे पूर्व मे इस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करता था।आरपीएफ के इस कार्रवाई से रेल ई टिकट की कालाबाजारी करने वाले लोगों में हड़कंप मचा हुआ है। मौके पर आरपीएफ के सब इंस्पेक्टर संतोष कुमार मिश्रा, कांस्टेबल रितेश प्रसाद वर्मा, राम ईश्वर पासवान, सीआईबी के चंदन कुमार मौजूद थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021