मुंगेर । रेल निजीकरण के विरोध में केंद्रीय श्रम संगठनों के आह्वान पर 23 सितंबर को राष्ट्रव्यापी जुझारू प्रतिवाद दिवस को सफल बनाने के लिए विभिन्न केंद्रीय श्रम संगठनों की संयुक्त बैठक कामरेड दिलीप कुमार की अध्यक्षता में हुई। बैठक में केंद्रीय श्रम संगठन एआईयूटीयूसी के राज्य अध्यक्ष प्रमोद कुमार, एआईटीयूसी के जिला मंत्री रतनलाल मंडल, सीआईटीयू जिला संयोजक राम नगीना पासवान, टीयूसीसी के जिला महामंत्री देवेंद्र शर्मा, एआईसीसीटीयू के अध्यक्ष गोप गुट महासंघ से राजकुमार, बीएसएसआर से पुष्पेंद्र सिंह, एआईवाइएफ के मु. मसीहुद्दीन, बिहार राज्य मध्याह्न भोजन कर्मचारी यूनियन से विभा कुमारी , बिहार राज्य कंस्ट्रक्शन वर्कर्स यूनियन से पंकज प्रीतम, एआईआरएफ वर्किंग कमेटी सदस्य वीरेंद्र प्रसाद यादव, ट्रेंड एक्ट अप्रेंटिस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष चंदन पासवान, रेलवे निजीकरण विरोधी संघर्ष मोर्चा जमालपुर के संयोजक चांदसी पासवान, सपा श्रमिक प्रकोष्ठ के मिथिलेश यादव के अलावे ग्रामीण डाक कर्मचारी यूनियन से रवि भूषण आदि ने भाग लिया। बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि 23 सितंबर को निजीकरण के विरुद्ध मुंगेर रेलवे स्टेशन से जुलूस निकाला जाएगा। इसके बाद डीएम को ज्ञापन सौंपा जाएगा।

----------------------- एक नजर श्रमिक संगठनों के मांगों पर

1 - सार्वजनिक उपक्रमों को बेचना बंद करो

2.श्रम कानूनों में मालिक के पक्ष में किए गए बदलाव को रद करो

3.काम के घंटे 8 से बढ़ाकर 12 घंटे करने की साजिश बंद करो

4. डीजल शेड के बदले इलेक्ट्रिक वर्क का लोड देना होगा

5. विद्युत इंजन के पीएच का कार्यभार जमालपुर कारखाना को देना होगा

6.रेल बजट को आम बजट से अलग करो

7.एफडीआई, एनपीएस, वीआरएस, स्कीम को वापस लो। 8.विवेक देवराय कमेटी की सिफारिश रद करो

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस