संवाद सूत्र, तारापुर (मुंगेर) : बड़ी संख्या में युवाओं द्वारा कई प्रकार की प्रतिबंधित दवाओं सुई एवं कफ सिरफ का नशे के रूप में उपयोग करने की आम चर्चा है। चाय की दुकानों के पीछे सैकड़ों की संख्या में खाली बोतल रैपर सरे आम कूड़ा रूप में मिलेंगे। खुले आम इसका सेवन होने से कोचिग और स्कूल जा रहे छात्रों पर प्रतिकूल असर भी पड़ता है। कई घरों के बच्चे देखादेखी इस लत के शिकार भी होने लगे।

आए दिन थाना पर आयोजित शांति समिति की बैठकों में भी प्रबुद्ध लोगों द्वारा मामला को उठाया जाता रहा है। कुछ लोगों ने हिम्मत कर सरकारी अधिकारियों तक इसकी रोकथाम की मांग भी की। सहायक औषधि नियंत्रक मुंगेर के पास पहुंचे शिकायत पत्र के आलोक में स्थानीय अनुमंडल पदाधिकारी के आदेश पर दंडाधिकारी अजय सरकार, पुलिस पदाधिकारी अरविद कुमार सोरेन के साथ औषधि निरीक्षक सुशील कुमार एवं अजय कुमार द्वारा दवा दुकानों की औचक जांच की गई। मोहनगंज स्थित जनता मेडिकल एजेंसी में जांच की गई। जांचोपरांत औषधि निरीक्षक ने बताया कि कोई आपत्तिजनक दवा नहीं पाई गई। इसकी रिपोर्ट वे वरीय अधिकारी को देंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस