मधुबनी। झंझारपुर आरएस ओपी क्षेत्र के एक गांव में ग्रामीणों ने 15 वर्षीया लड़की की 42 वर्ष के व्यक्ति के साथ हो रही शादी को रुकवा दिया। ग्रामीणों ने वर पक्ष के तीन लोगों को पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने इस मामले में शादी करने आए दूल्हा मोती अंसारी, दूल्हे के छोटे भाई आलम अंसारी एवं बहनोई नसीम अंसारी को गिरफ्तार कर लिया है। सभी गिरफ्तार व्यक्ति घोघरडीहा थाना के पिरोजगढ़ गांव निवासी हैं। इस संबंध में एसआइ महेश प्रसाद यादव के बयान पर बाल विवाह अधिनियम की धारा में केस दर्ज किया गया है।

बताया गया कि पिरोजगढ़ गांव निवासी मोती अंसारी इससे पूर्व दो शादी कर चुका है। उसकी पहली शादी पिरोजगढ़ में हुई थी। उसकी पहली पत्नी ने उसे छोड़ दूसरी शादी रचा ली। इसके बाद उसने अंधराठाढ़ी थाना के जमैला गांव में दूसरी शादी की। उसे एक पुत्र भी हुआ, लेकिन पत्नी एक अन्य लड़के के साथ बच्चा सहित भाग गई। उसके बाद उसने आर एस ओपी के एक गांव में तीसरी शादी ठीक कर ली। दूल्हन नाबालिग थी। शादी करने अपने सगे संबंधियों के साथ मोती अंसारी रविवार रात गांव में पहुंचा। जहां लोगों ने बाल विवाह तथा बेमेल विवाह का विरोध किया। शादी रूकवा दी। इसके बाद पुलिस को इसकी सूचना दी। इंसपेक्टर सनोबर खां एवं आरएस ओपी थानाध्यक्ष प्रेमलाल पासवान ने बताया कि केस दर्ज कर तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस