मधुबनी । बिस्फी थाना क्षेत्र अंतर्गत सिमरी में बीते 29 जुलाई को स्वर्ण व्यवसायी की दिनदहाड़े गोली मारकर हुई हत्या मामले में पुलिस को सफलता हासिल हुई है। पुलिस ने हत्याकांड में शामिल दो अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया है। इनमें से एक दरभंगा व दूसरा समस्तीपुर जिला का रहने वाला बताया गया है। गिरफ्तार दोनों अपराधियों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। हालांकि, इस हत्याकांड में पुलिस ने घटना के बाद ही एक प्राथमिकी अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया था। बिस्फी थाना परिसर में पत्रकारों से मुखातिब एसडीपीओ अरुण कुमार सिंह ने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्तों की पहचान समस्तीपुर जिले के सिघिया ग्राम निवासी दिनेश गिरी के पुत्र चितरंजन गिरी एवं दरभंगा जिले के मनीगाछी थाना अंतर्गत दहैरा गांव निवासी राजकुमार गिरी के पुत्र आनंद गिरी के रूप में हुई है। दोनों अप्राथमिक अभियुक्तों की गिरफ्तारी बिस़्फी पुलिस ने उनके घरों से की है। वहीं, हत्याकांड के एक प्राथमिक अभियुक्त को पूर्व में भी गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेजा जा चुका है। एसडीपीओ ने बताया कि गिरफ्तार दोनों अपराधियों का पूर्व से ही आपराधिक इतिहास रहा है। गिरफ्तारी के दौरान एक पल्सर बाइक सहित एक मोबाइल भी बरामद हुआ है। उन्होंने कहा कि हत्याकांड में लूट की मंशा भी स्पष्ट रही है। प्रेसवार्ता के दौरान थानाध्यक्ष संजय कुमार, एएसआई सुरेश चौधरी व रविद्र चौधरी भी मौजूद थे। दिनदहाड़े हुए हत्याकांड के बाद सहम गए थे लोग :

बता दें कि 29 जुलाई की शाम दुस्साहसिक वारदात को अंजाम देते हुए स्वर्ण व्यवसायी गौरी शंकर ठाकुर की हत्या अपराधियों ने गोली मारकर कर दी थी। जिसके कुछ ही क्षणों बाद सरेराह हुई वारदात से सनसनी फैल गई थी। आसपास की दुकानें धड़ाधड़ बंद हो गई थी। बाइक सवार तीन से चार अपराधियों ने उक्त वारदात को अंजाम दिया था।

Edited By: Jagran