मधुबनी (मधेपुर), संस। झंझारपुर उपकारा के पश्चिम स्थित मुहल्ला में सोमवार की देर रात हथियार से लैस बेखौफ आठ -दस डकैतों ने एक शिक्षक दंपति के घर डकैती की घटना को अंजाम दे डाला। डकैतों ने रिवाल्वर व छुरे के बल पर शिक्षक पति व पत्नी का हाथ पीछे बांध के साथ ही आंख पर भी पट्टी बांध दिया। गृहस्वामी हरे कृष्ण महतो ने बताया कि डकैतों ने 25 हजार नकद एवं लगभग पांच लाख रुपये का जेवरात लूट लिया। सभी अपराधी अपना चेहरा ढ़क रखा था। डकैतों ने रात दो से तीन बजे के बीच डकैती की घटना को अंजाम दिया। डकैती की घटना को अंजाम देकर सभी अपराधी भाग निकले। इस घटना के बाद गृहस्वामी ने पड़ोसी की मोबाइल से पुलिस को सूचना दी। घटना की सूचना मिलने पर मंगलवार को तड़के करीब साढ़े चार बजे झंझारपुर के एसडीपीओ आशीष आनंद, आरएस ओपी थानाध्यक्ष पुरुषोत्तम कुमार तथा झंझारपुर थानाध्यक्ष राशिद परवेज घटनास्थल का जायजा लिया। घटनास्थल बेहट उत्तरी पंचायत के वार्ड- पांच में है।

गैरेज का ताला तोड़कर घर में प्रवेश किया अपराधी 

डकैतों ने मुख्य दरवाजे के बगल में बने एक गैरेज का ताला तोड़कर अन्दर प्रवेश किया। फिर भीतर से मकान का मुख्य दरवाजा खोला। हालांकि, अन्दर जाने के लिए एक और दरवाजा है, लेकिन वह बंद नहीं था। फिर आवाज देकर गृहस्वामी हरे कृष्ण महतो को उठाया। दरवाजा खोलते ही डकैतों ने हथियार के बल पर गृहस्वामी को अपने कब्जे में ले लिया। हाथ बांध कर घर के अन्य सदस्यों की जानकारी ली। गृहस्वामी की शिक्षिका पत्नी को भी डकैतों ने अपने कब्जे में ले लिया। इसके बाद आलमीरा, ट्रंक, दीवान सहित विभिन्न कमरों को खंगाला। घर से कीमती सामान लूट लिया। पति व पत्नी का मोबाइल एवं गृहस्वामी शिक्षक का एटीएम भी ले लिया। हथियार का भय दिखाकर एटीएम का पिन भी पूछ लिया। गृहस्वामी के अनुसार डकैतों ने लगभग एक घंटा तक डकैती की घटना को अंजाम दिया। उन्होंने बताया कि घर में अपना और बड़ी बेटी कल्पना का भी जेवरात था। बड़ी बेटी की शादी 2018 में हुई थी। डकैतों ने शिक्षिका के पहने हुए सभी जेवरात भी उतरवा लिया। काफी मिन्नत करने पर मंगलसूत्र छोड़ दिया। हालांकि, वह भी गले से खींच लिया था। सभी लोग हिंदी और मैथिली में बात कर रहे थे।

डकैतों ने कहा, जेल से मिला था सुराग कि मालदार पार्टी है

शिक्षक दंपति ने बताया कि बार- बार किसी पवन यादव के बाबत पूछ रहा था तथा बोला कि यह सुराग जेल से मिला था कि पार्टी मालदार है। डकैत बार-बार पूछ रहा था कि पवन यादव का यह घर है या किराए पर रहता है। हालांकि, इस नाम का कोई व्यक्ति यहां नहीं रहता है। जाते -जाते अपराधी ने यह भी कहा कि भूख लगी कुछ खाने को है। बताते चलें कि हरे कृष्ण महतो झंझारपुर थाना क्षेत्र के हरभंगा गांव के ही मूल निवासी हैं तथा मधेपुर प्रखंड क्षेत्र स्थित प्लस टू उच्च विद्यालय, बकुआ में सहायक शिक्षक के पद पर पदस्थापित हैं। जबकि, गृहस्वामी की पत्नी सुधीरा देवी दीप पश्चिमी पंचायत स्थित एक विद्यालय में शिक्षिका हैं। घटना के समय शिक्षक दंपती व उनकी एक पांच साल की बेटी अद्विका ही घर पर थी।

Edited By: Dharmendra Kumar Singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट