मधुबनी । आगामी रबी फसल में अच्छी उपज व किसानों के बीच आधुनिक तकनीकों की जानकारी के

उद्देश्य से प्रखंड के सभी पंचायतों में 26 अक्टूबर से 09 नवंबर के बीच किसान चौपाल लगाए जाएंगे। प्रखंड कृषि पदाधिकारी अशोक कुमार सिंह ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्र के किसानों को रबी फसल के उन्नत बीजों व अच्छी उपज के लिए आधुनिक तकनीकों की जानकारी व जागरूकता के लिए चरणबद्ध तरीके से किसान चौपाल लगाए जाएंगे। जिसके लिए प्रखंड के सभी 26 पंचायतों में लगने वाले किसान चौपाल कि तिथि व स्थान की घोषणा कर दी गई हैं। जिसके अनुसार 26 अक्टूबर को श्रीपुर हाटी उत्तरी पंचायत के ग्राम कचहरी बगही, श्रीपुर हाटी दक्षिणी पंचायत के शाहपुर दुर्गा

स्थान, श्रीपुर हाटी मध्य पंचायत के नवहथ में, 27 अक्टूबर को दहिवत माधोपुर पश्चिमी पंचायत के दहिवत नरोत्तम में , दहिवत माधोपुर पूर्वी पंचायत के सामुदायिक भवन, पंडौल पश्चिमी पंचायत के पंचायत भवन पर, 28 अक्टूबर को पंडौल मध्य पंचायत के कमलपुर, पंडोल पूर्वी पंचायत के यमसम में व सागरपुर पंचायत के सीता घरारी सलहेश स्थान पर, 29 अक्टूबर को मोकरमपुर पंचायत के खादी भंडार मोकरमपुर, नरपतिनगर पंचायत के नरपतिनगर मध्य विद्यालय, सकरी पश्चिमी पंचायत के सकरी यादव टोल में, 30 अक्टूबर को सकरी पूर्वी पंचायत के विक्रमपुर सामुदायिक भवन, मेघौल पंचायत के शुभंकरपुर में, 31 अक्टूबर को भवानीपुर पंचायत के भवानीपुर सामुदायिक भवन, पचाढ़ी पंचायत के अंदह पचाढ़ी में, एक नवंबर को बेलाही पंचायत के राधा कृष्ण मंदिर परिसर बेलाही, भौर पंचायत के किसान कार्यालय हरिपुर चौक पर, 6 नवंबर को बथने पंचायत के पंचायत सरकार भवन, उदयपुर बिठुआर पंचायत के ठाकुर टोल सामुदायिक भवन में, 7 नवंबर को भगवतीपुर पंचायत के नाहर दुर्गास्थान परिसर में, सलेमपुर पंचायत के महादेव स्थान परिसर, 8 नवंबर को बिरौल पंचायत के सामुदायिक भवन, संकोर्थू पंचायत के डभारी स्थित मकतब, 9 नवंबर को सरिसब पाही पश्चिमी पंचायत के नवटोल, सरिसब पाही पूर्वी पंचायत के पंचायत कृषि कार्यालय पर किसान चौपाल का आयोजन किया जाएगा। इस दौड़ान लगने किसान चौपाल में निर्धारित टीम का प्रतिनिधित्व करते हुए बीएओ अशोक

कुमार सिंह, प्रखंड तकनीकी प्रबंधक मधुमिता, सहायक तकनीकी प्रबंधक नीता कुमारी, कृषि समन्वयक

शफकत आजम रब्बानी, प्रकाश चंद्र प्रभाकर, डा. मनोज कुमार व प्रिया संबंधित पंचायतों के कृषि समन्वयक, सहायक तकनीकी प्रबंधक, किसान सलाहकार, पौधा संरक्षण पर्यवेक्षक, कामदार व उद्यान के कर्मी के संग उपस्थित रहेंगे।

Edited By: Jagran