मधुबनी । राज्य के खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग की मंत्री सह जिले की प्रभारी मंत्री लेशी सिंह की अध्यक्षता में डीआरडीए सभागार में जनप्रतिनिधियों एवं प्रशासनिक व पुलिस पदाधिकारियों की समीक्षा बैठक हुई। इस बैठक में प्रभारी मंत्री लेशी सिंह ने जिले में बाढ़, अतिवृष्टि एवं अन्य आपदाओं से हुई क्षति की समीक्षा की। इस बैठक में जिला पदाधिकारी अमित कुमार ने पीपीटी के माध्यम से जिले में बाढ़, अतिवृष्टि एवं अन्य आपदाओं से प्रभावित क्षेत्रों से प्रभारी मंत्री को अवगत कराया। जिले से होकर प्रवाहित होने वाली प्रमुख नदियों का विभिन्न स्थानों पर जलस्तर एवं वर्षापात की स्थिति से भी प्रभारी मंत्री को अवगत कराया गया। कमला -बलान नदी का जयनगर एवं झंझारपुर में जलस्तर की मौजूदा स्थिति से भी अवगत कराया। इसके अलावा भूतही बलान, धौंस नदी के जलस्तर की भी जानकारी उन्हें दी गई।

---------------------- बाढ़ से निपटने के लिए उपलब्ध संसाधनों से प्रभारी मंत्री को अवगत कराया गया : जिले में वर्षापात की स्थिति (सामान्य निर्धारित वर्षा एवं वास्तविक वर्षापात) से लेकर जिले में अगले पांच दिनों के वर्षा का पूर्वानुमान से भी प्रभारी मंत्री को अवगत कराया गया। जिले में बाढ़ से उत्पन्न होने वाली स्थिति से निपटने के लिए उपलब्ध आवश्यक संसाधनों से भी प्रभारी मंत्री को अवगत कराया गया। जिले में देसी नाव 155, इन्फ्लैटेबल मोटरबोट आठ, कुल पॉलिथीन शीट 46111 (कुल वितरित-109), महाजाल दो, लाइफ जैकेट 180, इन्फ्लैटेबल लाईटिग सिस्टम एक, सेटेलाईट फोन चार, नाविक व गोताखोर 180, एसडीआरएफ टीम एक (35 सदस्यीय), चिह्नित शरण स्थल 218, कोविड राहत केन्द्र 28, मेगा कैम्प 22, सामुदायिक रसोई 220, तटबंध एवं स्लुइस गेटों की मरम्मति, संवेदनशील व अतिसंवेदनशील तटबंध, योजनाओं की स्थिति 2021-22, मरम्मति योग्य/पूर्ण/अपूर्ण सड़क, अब तक प्रभावित प्रखंडों की कुल संख्या पांच (खजौली, बासोपट्टी, बेनीपट्टी, बिस्फी, मधवापुर), कोविड-19 से मृत व्यक्ति के संबंध में अभिलेख स्वीकृति एवं भुगतान संबंधी विवरणी, कोविड-19 से मृत व्यक्ति के आश्रितों को मुख्यमंत्री राहत कोष एवं आपदा प्रबंधन विभाग से प्राप्त आवंटन से किए गए भुगतान से संबंधित जानकारी भी प्रभारी मंत्री को दी गई। बाढ़, अतिवृष्टि व अन्य आपदाओं से उत्पन्न स्थिति एवं इससे निपटने की तैयारी की समीक्षा के बाद प्रभारी मंत्री ने जिला प्रशासन को कई दिशा-निर्देश दिया। प्रभारी मंत्री ने निर्देश दिया कि सर्वे कराकर बाढ़, अतिवृष्टि एवं जलजमाव के कारण जिन किसानों को क्षति पहुंचा है उन प्रभावित किसानों को राहत कोष से सहयोग के रूप में मुआवजा राशि का भुगतान करें। वहीं संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया गया कि अपने-अपने क्षेत्राधिकार में निरीक्षण कर सभी मरम्मति योग्य एवं जीर्णोद्धार योग्य सड़क, पुल व पुलिया को ससमय दुरुस्त कराना सुनिश्चित करें। स्थानीय जनप्रतिनिधियों से उनके क्षेत्र की समस्याओं का एवं इसके समाधान के बारे में भी प्रभारी मंत्री जानकारी ली।

-------------------- जनप्रतिनिधियों ने अपने क्षेत्र की समस्या से प्रभारी मंत्री को अवगत कराया : इस दौरान सांसद डॉ. अशोक यादव ने कहा कि मिथिला क्षेत्र बाढ़ का घर है। यहां प्रत्येक वर्ष बाढ़ आती है। इस क्षेत्र के किसानों को प्रत्येक वर्ष बाढ़ से होनेवाली समस्याओं का सामना करना पड़ता है। लिहाजा सर्वे कराकर बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों को चिह्नित कर बाढ़ राहत क्षेत्र घोषित करने की जाए। सांसद ने कहा कि क्षेत्रों में स्थल निरीक्षण के दौरान उन्होंने देखा कि कुछ गावों, टोलों व मुहल्लों के घरों में बाढ़ का पानी घुस गया जिससे आमजनों को अत्यधिक कठिनाई का सामना करना पड़ता है। उन सभी क्षेत्रों का भी सर्वे कराकर बाढ़ राहत क्षेत्र घोषित कर पानी निकासी का स्थाई समाधान किया जाए। डीएम से अनुरोध किया कि बाढ़ क्षेत्र का एक रोडमैप तैयार किया जाए, जिससे यह पता लगाया जा सके की कौन-कौन क्षेत्र बाढ़ से ग्रसित है और वहां आपातकाल स्थिति में जाने का निकटतम मार्ग क्या है।

--------------------------------------- प्रभारी मंत्री ने कोरोना से मृत व्यक्ति के स्वजन को दिया मुआवजा राशि का चेक : जिले के विभिन्न विधायकों ने भी अपने-अपने विधानसभा क्षेत्रों की सभी समस्याओं से प्रभारी मंत्री एवं डीएम को अवगत कराते हुए सभी समस्याओं का स्थाई समाधान करने का अनुरोध किया, ताकि आमलोगों को भविष्य में जाल-माल की खतरा न हो। जिला पदाधिकारी ने सभी समस्याओं का त्वरित निष्पादन करने का आश्वासन दिया। संबंधित अधिकारी को भी उनसे संबंधित कार्यों का निष्पादन करने का निर्देश दिया गया। प्रभारी मंत्री ने भी आश्वासन दिया गया कि समस्याओं का जल्द से जल्द निराकरण किया जाएगा। कोविड-19 से मृत व्यक्तियों के निकटतम लाभुकों को प्रभारी मंत्री ने मुआवजा राशि का चेक प्रदान किया।

------------------

बैठक में ये भी थे मौजूद : बैठक के प्रारंभ में प्रभारी मंत्री एवं जनप्रतिनिधियों को पाग, शॉल एवं मधुबनी पेंटिग से सम्मानित किया गया। बैठक में सांसद डॉ. अशोक यादव, विधायक सुधांशु शेखर, हरिभूषण ठाकुर 'बचौल', अरूण शंकर प्रसाद, विधान पार्षद सर्वेश कुमार, घनश्याम ठाकुर, डीएम अमित कुमार, एसपी डॉ. सत्यप्रकाश, डीडीसी विशाल राज, विभिन्न अनुमंडलों के एसडीओ एवं एसडीपीओ, विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय पदाधिकारी, विभिन्न विभागों के कार्यपालक अभियंता आदि मौजूद थे।

----------------------------------

Edited By: Jagran