मधुबनी। जिले के पंडौल थाना क्षेत्र के श्रीपुरहाटी निवासी योगेंद्र प्रसाद को एटीएम से राशि निकासी के दौरान एक व्यक्ति से सहयोग मांगना महंगा सौदा साबित हुआ। सहयोग करने के नाम पर एक व्यक्ति ने योगेंद्र प्रसाद को झांसे में डालकर 35 हजार रुपये का चूना लगा दिया। योगेंद्र प्रसाद मधुबनी शहर के कोतवाली चौक स्थित एसबीआइ के एटीएम में राशि निकासी करने पहुंचे थे। राशि निकासी करने के लिए अपने पीछे खड़े एक व्यक्ति से मदद मांगा। उस व्यक्ति ने राशि निकासी में सहयोग करने के नाम पर योगेंद्र प्रसाद का एटीएम कार्ड धोखे से बदल लिया। इसके बाद कहा कि एटीएम में राशि नहीं है। लेकिन इसी दौरान सहयोग करने वाला व्यक्ति योगेंद्र प्रसाद के बैंक खाते से उनके एटीएम कार्ड के सहारे अपने खाते में 35 हजार रूपये ट्रांसफर कर लिया। तत्काल इसका आभास योगेंद्र प्रसाद को नहीं हुआ। इस घटना के कुछ दिनों बाद जब योगेंद्र प्रसाद राशि निकासी करने के लिए बैंक गया तब पता चला कि उनके खाते से 35 हजार रुपये सकरी थाना क्षेत्र के मोहन बढि़याम निवासी उपेंद्र पासवान के खाता में ट्रांसफर हुआ है। इसके बाद योगेंद्र प्रसाद उसके घर पर पहुंचा। जहां उपेंद्र पासवान ने उन्हें बताया कि एटीएम कार्ड उनके बेटे पवन पासवान के पास रहता है। राशि वापस मांगने पर पवन पासवान व उनका बेटा योगेंद्र प्रसाद को गाली-गलौज देते हुए धमकी देने लगा। इसके बाद थकहारकर योगेंद्र प्रसाद ने नगर थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई। अब पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। इसलिए कहते हैं कि सतर्कता गई-दुर्घटना हुई।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप