मधुबनी । पुलिस अधीक्षक डॉ. सत्यप्रकाश ने शनिवार को फुलपरास में थाने का निरीक्षण किया। एसपी ने लंबित कांडों की समीक्षा किया। एसपी ने कहा कि आरोपी शराब कारोबारी का नाम थाने के दागी पंजी में दर्ज कर उस पर कठोर कार्रवाई करें। वहीं स्थानीय स्तर पर अवैध शराब निर्माण की सूचना थाने तक पहुंचाने की जिम्मेवारी चौकीदारों की होगी। अगर चौकीदार इसमें विफल होते है और उनके क्षेत्र में छापेमारी के दौरान शराब पकड़ी जाती है तो वैसे चौकीदार नपेंगे। एसपी ने निर्देश देते हुए कहा कि आपराधिक घटनाओं पर रोकथाम के लिए सघन छापेमारी अभियान चलाया जाए। एसपी ने थाना में पदस्थापित पुलिस कर्मियों की समस्या से भी रू-ब-रू हुए। पुलिस के लिए जर्जर हो चुके आवास का निर्माण कराने के प्रति पहल का आश्वासन दिया। मौके पर डीएसपी प्रभात कुमार शर्मा, जयनगर एएसपी शौय सुमन, प्रशिक्षु डीएसपी आलोक कुमार, थानाध्यक्ष सह पुनि कुमार कीर्ति, पुनि ललन प्रसाद चौधरी आदि मौजूद थे। कार से 1920 बोतल शराब बरामद, चालक व धंधेबाज फरार एसएसबी की धनुषी डीओपी के प्रभारी सह लौकहा एसएसबी जी कंपनी के प्रभारी सहायक कमांडेंट अखिलेश यादव के नेतृत्व में शुक्रवार की रात एसएसबी जवानों ने घोरमोहना-खुटौना प्रधानमंत्री सड़क में बेलहा गांव के निकट एक कार से काफी मात्रा में नेपाली देशी शराब बरामद किया। एसएसबी ने पहले उक्त कार को रोकने का इशारा किया। लेकिन, एसएसबी को देख कार चालक व कार में बैठा धंधेबाज कार रोककर अंधेरे का फायदा उठाकर फरार हो गया। कार की तलाशी लेने पर 21 बोरों में बंद नेपाल निर्मित देशी शराब की 1920 बोतलें बरामद हुईं। शराब की उक्त बोतलें 84 कार्टनों में बंद करके बोरों में रखी हुई थी। एसएसबी बल जी कंपनी लौकहा के प्रभारी सहायक कमांडेंट यादव ने बताया कि शुक्रवार देर रात उन्हें गुप्त सूचना मिली थी कि ललमानियां थाना क्षेत्र के घोरमोहना से उत्तर भारत-नेपाल सीमा स्तंभ संख्या 248 के बगल से होकर शराब की बड़ी खेप एक कार से खुटौना की ओर जा रही है। इस सूचना पर उन्होंने जवानों के साथ गाड़ी लेकर उसका पीछा किया। अंतत: घोरमोहना-खुटौना प्रधानमंत्री सड़क में करीब दस किमी दक्षिण बेलहा गांव के पास कार तेज रफ्तार में जाते दिखाई पड़ी। रुकने का संकेत दिए जाने पर कार रुक गई और उसपर सवार चालक व साथ बैठा शराब धंधेबाज कार को छोड़ भाग गया। कार को धनुषी एसएसबी कैंप लाया गया जहां बोतलों की गिनती की गई। कागजी औपचारिकताओं पूरा करने के बाद जब्त शराब व कार को मधुबनी उत्पाद कार्यालय को सौंप दिया गया। शराब बरामदगी की इस कार्यवाही में लौकहा, श्री रामपुर तथा पिपराही स्थित बल के कैम्पों के जवान व अधिकारी भी शामिल थे।

Edited By: Jagran