मधुबनी : मिथिलांचल में वर्षों से बंद पड़े चीनी मिल चालू कराए जाने की मांग को लेकर दरभंगा में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलने पहुंचे मिथिला स्टूडेंट यूनियन के कार्यकर्ताओं पर पुलिस द्वारा किए गए लाठीचार्ज की घटना को तीव्र भर्तसना कर एमएसयू ने आक्रोश प्रकट कर 28 मई से आंदोलन किए जाने का ऐलान किया है। मिथिला स्टूडेंट यूनियन के बेनीपट्टी के अध्यक्ष आशीष झा, सचिव देवेंद्र ठाकुर तथा मिनटन चंचल, विभूति झा, चुन्नू, विनीत, अब्दूल, राजा, चंद्रशेखर तथा उमेश ने बताया कि मिथिलांचल में बंद पड़े चीनी मिल चालू कराए जाने की मांग को लेकर एमएसयू के कार्यकर्ताओं ने दरभंगा में नीतीश कुमार से बुधवार को मिलने पहुंचा जहां पुलिस द्वारा एमएसयू कार्यकर्ताओं को बर्बरता पूर्वक लाठीचार्ज कर पिटाई की गई। निर्दोश निकीता गुप्ता, विमल मैथिल, सागर नवदिया तथा अमित ¨सह को गिरफ्तार किया गया। लाठीचार्ज के दौरान यूनियन के बेनीपट्टी इकाई के सोसल मीडिया प्रभारी नीतीश काश्यप, नीरज शेखर सहित कई कार्यकर्ता गंभीर रूप से घायल हो गए। एमएसयू के सदस्यों ने कार्यकर्ताओं पर हुई लाठीचार्ज की घटना को गंभीरता से लेते हुए 28 मई 2016 से नीतीश सरकार के खिलाफ आंदोलन तेज किए जाने का ऐलान किया है। सदस्यों को आरोप है कि नीतीश सरकार तानाशाही रवैया अपना रही है जबकि मिथिलांचल में बंद पड़े चीनी मिलों को चालू किए जाने के दिशा में ठोस कदम नहीं उठा रही है बल्कि चीनी मिलों के चालू किए जाने की मांग करने वाले कार्यकर्ताओं पर पुलिस द्वारा लाठीचार्ज किया जा रहा है जो नीतीश सरकार के लिए शुभ का संकेत नहीं है।