मधेपुरा। अंचल कार्यालय में अब अधिकांश कार्य ऑनलाइन कर दिया गया है। सरकार अंचल कार्यालय को पूरी तरह से पेपरलेस बना चाह रही है। यहीं वजह है कि कार्यालय को पूरी तरह से हाईटेक किया जा रहा है। दाखिल खारिज एवं अन्य सेवाओं को समय सीमा के अंदर पूरा किया जाना है। ऑनलाइन प्रक्रिया की शुरुआत होने से अंचल कार्यालय के सभी प्रकार के गतिविधि पर वरीय पदाधिकारी ही नहीं राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग की भी नजर रहती है। मामले का ऑनलाइन समीक्षा कर विभाग द्वारा आवश्यक दिशा निर्देश जारी किया जाता है। राजस्व विभाग के अपर मुख्य सचिव,वरीय प्रभारी पदाधिकारी विवेक कुमार सिंह ने अंचल स्तर पर ऑनलाइन के माध्यम से प्राप्त याचिकाओं के समीक्षा के दौरान राज्य के मात्र 88 अंचलों में निष्पादन कि स्थिति 50 प्रतिशत से अधिक पाया। इस सम्बन्ध में उन्होंने 30 अगस्त तक प्राप्त दाखिल खारिज याचिकाओं के निष्पादन के लिए 31 अक्तूबर तक डेडलाइन निर्धारित किया है। ऑनलाइन द्वारा प्राप्त आवेदन याचिकाओं के निष्पादन के लिए अंचल के राजस्व कर्मचारी समेत अंचल निरीक्षक एवं अंचल कर्मियों को मुख्यालय में रहकर कार्य निष्पादन का आदेश अंचलाधिकारी द्वारा दिया गया है। बताया जा रहा है कि अंचल में कुल 6 हजार 279 आवेदन याचिका प्राप्त हुआ था। इसमे से 2 हजार 588 मामले निष्पादित किये जा चुके है। इसके साथ ही 1 हजार 979 मामले विभिन्न कारणों से लंबित हैं। अंचलाधिकारी जयप्रकाश राय ने बताया कि 31 अक्तूबर से पूर्व दाखिल खारिज आवेदन याचिकाओं को निष्पादित कर लिया जाएगा।

-----------------------------------------------------

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप