मधेपुर। किसान बिल के विरोध में राजद कार्यकर्ता प्रदेश नेतृत्व के निर्देश पर शुक्रवार को मुख्यालय में प्रदर्शन करेंगे।

राजद के अरुण कुमार ने बताया कि सरकार किसान विरोधी है। 2006 में ही एपीएमसी बंद कर दिया गया था। इससे राज्य के कुल खाद्यान्न का एक प्रतिशत भी खरीद नहीं हो सका है। एपीएमसी एक्ट में संशोधन से किसानों को लाभ मिलता तो किसानों में संपन्नता आती, लेकिन 2006 के बाद से राज्य के किसानों की स्थिति बदतर होती जा रही है। वहीं, कार्यकारी अध्यक्ष वेदप्रकाश ने बताया कि पार्टी के निर्देशानुसार कृषि बिल के विरोध में शुक्रवार को जिला मुख्यालयों पर प्रदर्शन कर बिल को वापस लेने की मांग की जाएगी।

माकपा करेगा चक्का जाम मा‌र्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी सरकार द्वारा लाए गए कृषि बिल के विरोध में चक्का जाम कर प्रदर्शन किया जाएगा। माकपा किसान सभा के जिला सचिव ललन कुमार ने कहा कि जनतांत्रिक प्रक्रियाओं को ताक पर रखकर किसानों के हित के विरोध में सरकार निर्णय ले रही है। इस मामले में पार्टी के दो सांसदों सहित विपक्ष के आठ सांसदों को पूरे सत्र से निलंबित कर सरकार ने अपनी तानाशाही रवैये का परिचय दे रही है। सरकार की तानाशाही एवं मनमानी रवैये के विरोध में अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के समर्थन में शुक्रवार को चक्का जाम कर प्रदर्शन किया जाएगा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस