मधेपुरा [जेएनएन]। सदर थाना में पदस्थापित दारोगा का सर्विस पिस्टल हाथ में लेकर फोटो खिंचाने के मामले में एसपी ने सख्त कार्रवाई करते हुए सदर थाने में पदस्थापित दारोगा राजेश कुमार रंजन को निलंबित कर दिया है। वहीं छात्र नेता रोहित यादव के विरुद्ध सदर थाने में प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया है। एसपी ने रविवार को सोशल मीडिया पर दारोगा की पिस्टल हाथ में लेकर छात्र नेता रोहित कुमार द्वारा फोटो खिंचाते फोटो वायरल होने के बाद एसडीपीओ की जांच रिपोर्ट के आधार पर ये कदम उठाए हैं।
शनिवार को सदर थाना में दारोगा राजेश रंजन के कार्य करते रहने के दौरान जदयू के विश्वविद्यालय छात्र अध्यक्ष रोहित यादव ने उनका सर्विस पिस्टल हाथ लेकर फोटो खिंचाए थे। रविवार को वह फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था।
एसडीपीओ की रिपोर्ट पर हुई कार्रवाई
फोटो वायरल होने के बाद एसपी ने रविवार को ही एसडीपीओ को 24 घंटे के भीतर जांच कर रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दे दिया था। एसडीपीओ वसी अहमद ने जांच कर सोमवार को एसपी को रिपोर्ट सौंपी। दारोगा राजेश कुमार रंजन को ड्यूटी में लापरवाही बरतने के आरोप में निलंबित किया गया है।
दारोगा व छात्र नेता ने दी ये सफाई
निलंबित दारोगा राजेश कुमार रंजन के अनुसार पूरे दिन वर्दी में रहने के कारण असहज महसूस होने लगा तो पैंट का बेल्ट खोल रिवाल्वर को टेबल पर रख लिख रहे थे। इसी दौरान बगल में बैठे छात्र नेता ने पिस्टल हाथ में ले लिया और किसी व्यक्ति ने फोटो खींचकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।
घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए  विवि छात्र जदयू अध्यक्ष रोहित यादव ने कहा कि यह करतूत भूमि माफियाओं की है। विरोधियों द्वारा इस वीडियो को बढ़ा-चढ़ा कर प्रस्तुत किया गया है।
थाना आने-जासने वालों की होगा निगरानी
मधेपुरा के एसपी संजय कुमार ने बताया कि एसडीपीओ की रिपोर्ट के आधार पर दारोगा को निलंबित किया गया है। छात्र नेता के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करने के निर्देश दिए गए हैं। सदर थाना में बिना काम के आने-जाने वालों पर निगरानी रखने के लिए थाने में लगे सीसीटीवी कैमरों को बहुत जल्द ठीक करवाया जाएगा। 

Posted By: Kajal Kumari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप