मधेपुरा। ससुराल वालों से प्रताड़ित महिला न्याय के लिए दर-दर भटक रही है। पीड़ित महिला के ससुर के पुलिस पदाधिकारी रहने की वजह से महिला थाने में द्वारा एफआइआर दर्ज करने से इंकार किया जा रहा है। पीड़ित महिला द्वारा अब एसपी को आवेदन देकर न्याय दिलाने की गुहार लगाई गई है। पीड़ित महिला सिंहेश्वर थाना क्षेत्र की गौरीपुर पंचायत की राजलक्ष्मी कुमारी है। 2018 में इनकी शादी पुरैनी थाना क्षेत्र के गोढ़ी टोला में कृष्णदेव शाह के पुत्र प्रशांत कुमार के साथ हुई थी। पीड़ित महिला द्वारा एसपी को दिए आवेदन में बताया है कि ससुराल वाले दहेज को लेकर लगातार प्रताड़ित करते हैं। दहेज की मांग को लेकर पति, ससुर, देवर व सास पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया गया है। कई बार ससुरवालों के प्रताड़ना से तंग आकर तीन बार मायके से 50-50 हजार लेकर दिए जाने की बात भी कही है। पीड़ित महिला ने एसपी को दिए आवेदन में कहा है कि देवर निशांत कुमार दबंग प्रवृति का है। ससुरवालों पर गलत दवा देकर जान से मारने की कोशिश का भी आरोप लगाया गया है। पीड़ित परिवार के लोगों का कहना है कि ससुर खुद पुलिस अधिकारी हैं इस कारण महिला थाने में प्राथमिकी दर्ज करने से इंकार की जा रही है। यद्यपि महिला थाना ने पीड़ित महिला द्वारा दिए गए आवेदन के आधार पर दोनों पक्षों को नोटिस जारी कर कार्यालय में उपस्थित होने का निर्देश दिया है। महिला थानाध्यक्ष आरती कुमारी ने 19 सितंबर को पीड़ित महिला राजलक्ष्मी कुमारी व सभी ससुरवालों को नोटिस देकर 28 को उपस्थित होने को कहा है। यद्यपि पीड़ित पक्ष महिला थाना की इस कार्रवाई से संतुष्ट नहीं हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस