संवाद सूत्र, मधेपुरा : जल एवं स्वच्छता से संबंधित बैठक झल्लू बाबु सभागार में डीएम नवदीप शुक्ला की अध्यक्षता में हुई। बैठक के दौरान डीएम ने कहा कि जिले में शौचालय निर्माण की स्थिति ठीक नहीं है। शौचालय निर्माण में जिला पिछड़ रहा है। डीएम ने पदाधिकारियों को कड़ी हिदायत देते हुए कहा कि 31 अक्टूबर 2018 तक हर हाल में जिले को मिले लक्ष्य को पूरा करना है। अब तक जिले के सभी पंचायतों के 2242 वार्ड के 416 वार्ड ही ओडीएफ घोषित हो पाया है जो लक्ष्य से काफी कम है। लक्ष्य को पूरा करने के लिए शौचालय निर्माण कार्य में तेजी लाना होगा। डीएम ने सभी बीडीओ का निर्देश देते हुए कहा कि अपने स्तर से पंचायत प्रतिनिधि, गणमान्य व्यक्ति एवं सामाजिक सरोकार से जुड़े लोगों के साथ साथ पंचायत स्तर पर कार्य करने वाले सभी कर्मी को शौचालय निर्माण में अपेक्षित सहयोग लेकर शौचालय निर्माण का कार्य को हर हाल में पूर्ण करें। डीएम ने कहा कि यह एक सामाजिक कार्य है और इस कार्य के बदौलत ही समाज में लोगों के बीच उनके व्यवहार में परिवर्तन आएगा।

मौके पर डीएम ने निर्वाचन कार्यों की समीक्षा की। इस दौरान पदाधिकारियों को कई दिशा निर्देश दिए। बैठक में डीडीसी मुकेश कुमार, डीटीओ अब्दुल रज्जाक, सिविल सर्जन गदाधर पांडेय, डीपीओ आईसीडीएस रजनीश कुमार, जनसंपर्क पदाधिकारी महेश पासवान सहित अन्य मौजूद थे।

Posted By: Jagran