लखीसराय । सरकार के निर्देशानुसार सोमवार को लखीसराय जिला अंतर्गत सभी माध्यमिक और प्लस टू विद्यालय खोल दिए गए। कोरोना काल में करीब छह महीने बाद विद्यालय खुला है। हालांकि इन विद्यालयों में कक्षा संचालन की अनुमति अभी नहीं दी गई है। विद्यालय खुलने के बाद 11वीं कक्षा के छात्र-छात्रा परामर्श के लिए विद्यालय पहुंचे। मुख्यालय स्थित अधिकांश विद्यालयों में नौवीं कक्षा में नामांकन और रजिस्ट्रेशन कराने के लिए छात्रों की भीड़ लगी रही। अधिकांश छात्र-छात्रा बिना मास्क लगाए विद्यालय पहुंचे थे। विद्यालय खुलने के बाद मुख्यालय स्थित प्लस टू केआरके हाई स्कूल की जब पड़ताल की गई तो नजारा बिल्कुल बदला हुआ था। सभी शिक्षक मास्क लगाकर अलग-अलग कमरों में मौजूद थे। विद्यालय के प्राचार्य जिलेश्वर पंडित भी मौजूद थे। नौवीं कक्षा में नामांकन और रजिस्ट्रेशन के लिए छात्रों की भीड़ अधिक थी। प्राचार्य के निर्देश पर शिक्षक अविनाश कुमार ने छात्रों की थर्मल स्क्रीनिग की। इसके बाद उसे कमरे में जाने की अनुमति दी। जो छात्र बिना मास्क पहने हुए विद्यालय आए थे उन्हें मास्क पहनकर अंदर आने को कहा गया। 11वीं कक्षा की छात्रा सलोनी पंडित ने विज्ञान शिक्षक नीतीश कुमार से भौतिकी विषय से संबंधित परामर्श प्राप्त किया। विद्यालय के दूसरे कमरों में अंग्रेजी विषय के शिक्षक दिनेश कुमार और कॉमर्स के शिक्षक सोनू कुमार ने परामर्श के लिए विद्यालय पहुंचे छात्र-छात्राओं से बातचीत कर उनके सवालों का जवाब दिया। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा 28 सितंबर को नौवीं कक्षा में रजिस्ट्रेशन कराने का अंतिम तिथि रहने के कारण छात्रों की अधिक भीड़ थी। अधिकांश छात्र-छात्रा बिना मास्क लगाए एक जगह जमा होकर फॉर्म भरते नजर आए। उधर राजकीय प्लस टू उच्च विद्यालय हसनपुर, महिला विद्या मंदिर उच्च विद्यालय, पुरानी बाजार उच्च विद्यालय, दुर्गा बालिका उच्च विद्यालय एवं दुर्गा बालक उच्च विद्यालय में भी नवमी कक्षा में नामांकन और रजिस्ट्रेशन कराने के लिए छात्र छात्राओं की दिनभर भीड़ लगी रही लेकिन अधिकांश छात्र छात्राएं बिना मास्क लगाए ही विद्यालय पहुंचे थे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस