संवाद सहयोगी, लखीसराय : सदर अस्पताल स्थित इमरजेंसी वार्ड के इंचार्ज पुरूष जीएनएम मु. परवेज आलम को गुरुवार को चिकित्सक के साथ बदतमीजी करना काफी महंगा पड़ गया। इमरजेंसी वार्ड में ड्यूटी पर तैनात डा. अविनाश कुमार सत्यम द्वारा उसकी पिटाई कर दी। इसको लेकर सदर अस्पताल में अफरातफरी मच गई। जानकारी के अनुसार इमरजेंसी वार्ड के इंचार्ज पुरूष जीएनएम मु. परवेज आलम गुरुवार को दिन के 11:00 बजे ड्यूटी पहुंचा। समय से इमरजेंसी वार्ड में ड्यूटी पर तैनात जीएनएम पार्वती कुमारी ने इमरजेंसी वार्ड में दवा की कमी बताते हुए दवा उपलब्ध कराने को कहा। अपर मुख्य सचिव के आने की सूचना के बाद भी इमरजेंसी वार्ड के इंचार्ज के विलंब से ड्यूटी पर आने पर ड्यूटी पर मौजूद अन्य जीएनएम ने नाराजगी जताई। इस पर वार्ड इंचार्ज ने अपने सहयोगी जीएनएम के साथ बदतमीजी करते हुए प्रथम तल पर स्थित चिकित्सक के आराम करने के कक्ष के बगल के कमरे में जाकर आराम करने चला गया। इमरजेंसी वार्ड में ड्यूटी पर तैनात चिकित्सक डा. अविनाश कुमार सत्यम एक अन्य डा. विकास कुमार झा के साथ नास्ता करने के लिए चिकित्सक कक्ष में गए। चिकित्सक के आराम करने के कक्ष के बगल के कमरा में इमरजेंसी वार्ड इंचार्ज को आराम करते देख ड्यूटी पर जाने को कहा। इतना कहते ही वार्ड इंचार्ज मु. परवेज आलम द्वारा डा. अविनाश कुमार सत्यम को कहा गया कि वे अपने ड्यूटी से मतलब रखें। इसपर डाक्टर ने स्टोर रूम से दवा लाकर इमरजेंसी वार्ड में रखने की व्यवस्था करने को कहा। इमरजेंसी वार्ड इंचार्ज ने कहा कि आप खुद दवा ले आइए। इस पर डा. सत्यम ने गुस्से में आकर वार्ड इंचार्ज मु. परवेज आलम की पिटाई कर दी। विदित हो कि दो दिन पूर्व इमरजेंसी वार्ड इंचार्ज द्वारा सदर अस्पताल के उपाधीक्षक डा. विपिन कुमार के साथ भी बदसलूकी की गई थी। इमरजेंसी वार्ड की अन्य ए-ग्रेड नर्स के साथ भी उनका बर्ताव अच्छा नहीं है। इस घटना के बाद सदर अस्पताल के उपाधीक्षक डा. बिपिन कुमार ने डा. अविनाश कुमार सत्यम, डा. विकास कुमार झा एवं इमरजेंसी वार्ड इंचार्ज मु. परवेज आलम के साथ सिविल सर्जन कार्यालय पहुंचकर सिविल सर्जन को पूरी जानकारी दी। सिविल सर्जन ने चिकित्सक एवं वार्ड इंचार्ज को इस संबंध में लिखित देने का निर्देश दिया।

Edited By: Jagran