लखीसराय। बीते तीन दिनों से हो रही बारिश से खेतों में जान आ गई है। पानी देख किसानों के चेहरे खिल उठे हैं। प्रखंड क्षेत्र में गुरुवार को किसानों ने धान का बिचड़ा रोपने के लिए खेतों की जुताई शुरू कर दी है। उम्मीद की जा रही है कि अगले दो-तीन दिन में किसान खेतों में बिचड़ा डालेंगे। बारिश होने से क्षेत्र के लोगों ने उमस भरी गर्मी से राहत की सांस ली है। किसान शंकर यादव, अनिल यादव, रंजीत यादव, चन्द्रशेखर मंडल, ब्रह्मदेव यादव, सिको साव आदि ने बताया कि किसानों के लिए यह समय धान का बिचड़ा गिराने का है। कम समय में अच्छी उपज के लिए यह बारिश वरदान साबित होगा। किसानों ने बताया कि उन्नत खेती के लिए प्रत्यक्षण धान के बिचड़े की बुआई के समय कीटनाशक दवा का छिड़काव जरुरी है। विदित हो कि प्रखंड क्षेत्र में धान के बिचड़े की बुआई के लिए किसान बारिश होने का इंतजार कर रहे थे। लगातार रुक-रुक कर हुए बारिश से खेतों में पानी जमा होने के बाद किसानों ने खेत की जुताई शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार चानन प्रखंड क्षेत्र की कुल दस पंचायतों में चालू वित्तीय वर्ष 2020-21 में प्रखंड क्षेत्र में पांच हजार हेक्टेयर भूमि पर धान की खेती करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। कृषि विभाग विभिन्न योजनाओं के तहत धान फसल पर किसानों को अनुदान राशि भी दे रही है। कृषि विभाग से मिली जानकारी के अनुसार गत वर्ष भी प्रखंड क्षेत्र में लक्ष्य से अधिक धान का उत्पादन हुआ था।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस