संवाद सहयोगी, लखीसराय। जिला शिक्षा पदाधिकारी विमलेश कुमार चौधरी ने अपने कार्यालय भवन की साफ सफाई, मरम्मत और रंग रोगन कराने में असमर्थता जताते हुए हाथ खड़ा कर दिया है। डीईओ ने केआरके हाई स्कूल के प्रधानाध्यापक जिलेश्वर पंडित को डीईओ कार्यालय भवन का रंग रोगन कराने का आदेश जारी किया है।

उधर, डीईओ के आदेश पर सवाल उठने लगा है। जानकारी हो कि शिक्षा विभाग के सचिव असंगबा चुबा आओ ने जिलाधिकारी संजय कुमार सिंह के साथ 25 मई को जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी लेखा योजना, साक्षरता कार्यालय सहित पूरे भवन का निरीक्षण किया था। निरीक्षण के दौरान शिक्षा सचिव ने भवन की जर्जर स्थिति एवं चारों तरफ पसरी गंदगी देख नाराजगी व्यक्त की थी। उन्होंने जिला शिक्षा पदाधिकारी विमलेश कुमार चौधरी को कार्यालय के सभी कमरों, बरामदा एवं शौचालय का मरम्मत कार्य कराते हुए रंग रोगन कराने का आदेश दिया था। जानकारी हो कि जिला शिक्षा पदाधिकारी का कार्यालय केआरके हाई स्कूल के भवन में स्थापना काल से संचालित है। शिक्षा सचिव के जाने के बाद डीईओ ने अपने कार्यालय भवन का रंग रोगन एवं मरम्मत कार्य खुद ना कराकर केआरके हाई स्कूल के प्रधानाध्यापक को एक सप्ताह के अंदर पूरा करने का आदेश दिया है। उधर केआरके हाई स्कूल के प्रधानाध्यापक जिलेश्वर पंडित ने बताया कि डीईओ कार्यालय भवन का मरम्मत कार्य एवं रंग रोगन कराने का आदेश डीईओ से प्राप्त हुआ है। विद्यालय के जिस भवन में डीईओ कार्यालय चल रहा है उसे खाली कराने को लेकर भूमि दाता युगल किशोर खेतान द्वारा लोकायुक्त में केस दर्ज किया गया है। उसका मामला अभी जांच में चल रहा है। ऐसी स्थिति में विद्यालय कोष की राशि से डीईओ कार्यालय भवन का रंग रोगन कराने में समस्या हो सकती है। इस संबंध में अभी तक विद्यालय प्रबंध समिति ने कोई निर्णय नहीं लिया है।

Edited By: Jagran